Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

भाजपा और अन्य दलों के समर्थकों के बीच चुनाव प्रचार शुरु होने से चुनावी सरगर्मियां हुआ तेज

- Sponsored -

राजस्थान में चुरु जिले की सरदारशहर विधानसभा सीट पर आगामी पांच दिसंबर को होने वाले उपचुनाव को लेकर सत्तारुढ कांग्रेस एवं विपक्ष भारतीय जनता पार्टी (भाजपा), राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी (रालोपा) एवं अन्य दल तथा निर्दलीय प्रत्याशियों एवं उनके समर्थन में चुनाव प्रचार शुरु होने से चुनावी सरगर्मियां तेज होने लगी है।

उपचुनाव के लिए नामांकन वापसी की आखिरी तारीख गत 21 नवंबर के बाद इस चुनाव में दस उम्मीदवार चुनाव मैदान में अपना चुनावी भाग आजमा रहे है।

कांग्रेस ने उपचुनाव के रण में पूर्व मंत्री भंवर लाल शर्मा के पुत्र अनिल कुमार शर्मा को चुनाव मैदान में उतारकर सहानुभूति कार्ड खेला हैं वहीं भाजपा ने पूर्व विधायक अशोक कुमार पिंचा को एक बार फिर मौका दिया है जबकि रालोपा ने लालचंद मूं ड को चुनाव मैदान में उतारा है। इसके अलावा कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ़ इंडिया (मार्क्ससिस्ट) के सांवरमल मेघवाल, इंडियन पीपल्स ग्रीन पार्टी के परमाना राम के अलावा पांच निर्दलीय प्रत्याशी उपचुनाव में अपना चुनावी भाग्य आजमा रहे हैं।

उपचुनाव के लिए चुनाव प्रचार तेज होने लगा हैं और आज रालोपा के संयोजक एवं नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल ने पार्टी उम्मीदवार श्री मूंड के पक्ष में सरदारशहर के उड़सर भेभरान में जनसंपर्क किया और लोगों को संबोधित किया। इसी तरह अन्य पार्टी के उम्मीदवार एवं उनके समर्थन में भी चुनाव प्रचार शुरु हो गया।

- Sponsored -

- Sponsored -

कांग्रेस उम्मीदवार श्री अनिल शर्मा के समर्थन में नामांकन भरने के दिन गत 17 नवंबर को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत सभा कर चुके हैं और इसके एक दिन पहले भाजपा प्रत्याशी के नामांकन दाखिल करने के दिन भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष डा सतीश पूनियां, नेता प्रतिपक्ष गुलाब चंद कटारिय, उपनेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र सिंह राठौड़ सहित अन्य नेता सभा कर चुके हैं।

कांग्रेस और भाजपा ने उपचुनाव में पार्टी प्रत्याशी के समर्थन में 40-40 स्टार प्रचारक चुनाव प्रचार करेंगे। कांग्रेस के स्टार प्रचारकों में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, कांग्रेस प्रदेश प्रभारी अजय माकन, पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट सहित कई मंत्री और विधायक एवं अन्य कई नेता शामिल हैं। इसी तरह भाजपा के स्टार प्रचारकों में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डा पूनियां, भाजपा के प्रदेश प्रभारी अरुण सिंह सहित अन्य कई वरिष्ठ नेता शामिल हैं।

सरदारशहर में पिछले चुनावों अधिकतर में कांग्रेस ने ही बाजी मारी हैं और इस उपचुनाव में भी कांग्रेस सहानुभूति लहर का फायदा मिलने की उम्मीद कर रही है वहीं भाजपा अपने पूर्व उम्मीदवार को चुनाव मैदान में उतारकर बाजी पलटने की उम्मीद कर रही है। कांग्रेस मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के नेतृत्व में कांग्रेस सरकार की पुरानी पेंशन योजना, स्वास्थ्य बीमा योजना सहित कई लोककल्याणकारी योजना एवं श्री भंवरलाल शर्मा के क्षेत्र में किए गए कार्यों के बूते उपचुनाव में जीत का दावा कर रही हैं। कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने दावा करते हुए कहा है कि उपचुनाव में पार्टी उम्मीदवार श्री अनिल शर्मा उनके पिता भंवर लाल शर्मा की पिछली विधानसभा जीत के अंतर से भी अधिक मतों से जीत हासिल करेंगे। भाजपा के नेता भी भाजपा प्रत्याशी के जीतने का दावा करते हुए कहा कि राज्य सरकार के खिलाफ सत्ता विरोधी लहर के कारण उनका उम्मीदवार उपचुनाव जीतेगा।

उधर रालोपा भी अपने उम्मीदवार के जीत का दावा करते हुए कहा कि कांग्रेस एवं भाजपा दोनों ही पार्टियां जनहित के काम करने में असफल रही हैं और रालोपा उम्मीदवार किसानों के समर्थन से यह उपचुनाव जीतेगी।

उल्लेखनीय है कि सरदारशहर विधानसभा क्षेत्र में अब तक हुए विधानसभा चुनावों में कांग्रेस ने सर्वाधिक जीत दर्ज की और श्री भंवरलाल शर्मा ने इस क्षेत्र में सबसे अधिक सात बार चुनाव जीतकर अपना दबदबा कायम किया।

Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

- Sponsored -

Comments are closed.