Live 7 Bharat
जनता की आवाज

लालू यादव ने क्यों कहा कि जातिगत जनगणना से पिछड़े वर्ग को उनका हक मिलेगा ?

लालू प्रसाद यादव ने कहा है कि जातिगत जनगणना से पिछड़े वर्ग को और अधिक सुविधा मिलेगी

- Sponsored -

न्यूज़ डेस्क

- Sponsored -

राजद प्रमुख लालू यादव आज बिहार के छपरा यानी सारण में पहुंचकर जातिगत गणना की बात लोगों तक पहुंचाई। उन्होंने कहा कि जातिगत जनगणना आज की तारीख में जरूरी है। इससे यह पता चल जाता है कि समाज में किस जाती की कितनी आबादी है और उसका सामाजिक स्तर क्या है। इस जानकारी के साथ ही सरकार को उस जाति और समाज के लिए कार्यक्रम बनाने योजना तैयार करने में मदद मिलती है।
              लालू प्रसाद यादव ने कहा है कि जातिगत जनगणना से पिछड़े वर्ग को और अधिक सुविधा मिलेगी।यादव सारण जिले के डोरीगंज थाना क्षेत्र में आयोजित एक सांस्कृतिक कार्यक्रम के दौरान अपनी बात लोगों के सामने रख रहे थे। उन्होंने कहा कि बिहार सरकार द्वारा जातिगत जनगणना के उपरांत सरकार द्वारा पिछड़े वर्ग को और अधिक सुविधा उपलब्ध होगी। उन्होंने पूरे देश में जातिगत जनगणना करा कर पिछड़े वर्ग को उनका हक तथा अधिकार दिलाने के लिए उनकी पार्टी द्वारा किए जा रहे कार्य का लेखा जोखा भी रखा।
राजद सुप्रीमो ने कहा कि उन्होंने सारण जिले के विकास के लिए रेल चक्का कारखाना, डीजल इंजन कारखाना की स्थापना की । उन्होंने बालू व्यवसायी की समस्या पर भी अपनी बात कहते हुए कहा कि वे राज्य सरकार से मिलकर इस समस्या के समाधान के लिए पहल करेंगे। सोनपुर – दीघा रेल -सह- सड़क पुल निर्माण के बाद उक्त क्षेत्र में विकास कार्य होने तथा भूमि का मूल्य बढ़ने की बात कहते हुए उन्होंने कहा कि इससे काफी फायदा हुआ है।
कार्यक्रम में कला और संस्कृति मंत्री जितेन्द्र कुमार राय, श्रम संसाधन मंत्री सुरेंद्र राम,राजद के वरिष्ठ नेता शिवानंद तिवारी, जदयू विधान पार्षद वीरेंद्र नारायण यादव, बख्तियारपुर विधायक अनिरुद्ध यादव सहित राजद के नेता और कार्यकर्ता मौजूद थे। इनपुट वार्ता
Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

- Sponsored -

Comments are closed.

Breaking News: