Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

पश्चिम बंगाल : पिछले 2 वर्षों में बेरोजगारी दो गुना से अधिक बढ़ी

कोलकाता : पूरे देश के साथ – साथ पश्चिम बंगाल में भी बेरोजगारी दर में लगातार वृद्धि हो रही है। पिछले 2 वर्षों में पश्चिम बंगाल में बेरोजगारी दो गुना से भी अधिक बढ़ी है। गत वर्ष भी लॉकडाउन के कारण पश्चिम बंगाल में लाखों लोग बेरोजगार हुए थे। वहीं इस वर्ष गत 15 मई से लॉकडाउन है और मौजूदा समय में ‘सख्ती’ का पालन राज्य सरकार करवा रही है। ऐसे में गत वर्ष मई महीने की तुलना में इस वर्ष बेरोजगारी दर में लगभग 2% का इजाफा हुआ है।

वर्ष 2020 में भी मई महीने में लॉकडाउन था। उस समय पश्चिम बंगाल की बेरोजगारी दर 17.4% थी। वहीं इस वर्ष मई महीने में पश्चिम बंगाल की बेरोजगारी दर 19.3% है। इस बार बेरोजगारी दर में लगभग 2% की वृद्धि हुई है।

सीएमआईई के कोलकाता ब्रांच के मैनेजर कुंतल साहा ने बताया, ‘ देश में इस साल कुल 2.23 करोड़ लोगों का जॉब लॉस हुआ। सबसे अधिक दिहाड़ी मजदूरों को काम से हाथ धोना पड़ा है। इसके बाद व्यवसाय करने वाले और फिर नौकरीपेशा लोगों की नौकरियां गयी हैं। देश में 1 करोड़ 72 लाख दिहाड़ी मजदूरों का काम चला गया जबकि 57 लाख व्यवसायियों का व्यवसाय बंद हो गया। इसी तरह नौकरीपेशा में 32 लाख लोगों की नौकरियां देश भर में गयी हैं।’

मई 2020 – 17.4%
मई 2019- 6.4%
मई 2018 – 7.4
मई 2017 – 6.0%
मई 2016 – 6.6%

पैन इंडिया बेस्ड जॉब कंसल्टेंट कंपनी की ओर से बताया गया कि इस बार लॉकडाउन में पिछले साल जैसी स्थिति नहीं है। पिछले वर्ष बिल्कुल ओपनिंग ही नहीं थी जबकि इस बार ओपनिंग आ रही है। उन्होंने कहा कि कोलकाता के मार्केट में कुछ कम ओपनिंग है, लेकिन बंगलुरू, दिल्ली, मुंबई में ठीक-ठाक ओपनिंग आ रही है।

Looks like you have blocked notifications!

Leave a Reply