Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

पुराना चाईबासा कचड़ा निस्तारण प्लांट का ग्रामीणों ने किया विरोध, गाँवों में मची खलबली

- Sponsored -

कोल्हान के आदिवासी मूलवासी ग्रामीण सामाजिक एकता के सूत्र में बंधे,
नही तो गाँव के गाँव एक- एक करके समाप्त हो जायेगा : दीपक बिरूआ
चाईबासा : पुराना चाईबासा कचड़ा निस्तारण प्लान्ट स्थापना की सनसनीखेज खबर से चारों ओर के गाँवों में खलबली मच गयी है। इसके पूर्व में इसी प्लान्ट के निमित्त मौजा-बन्दापंचो, आचु-अमिता, सिकुरसाई, डिलियामर्चा में स्थापित करने का प्रयास किया गया था। मौजा पुराना चाईबासा के ग्रामीण रैयतों ने संयुक्त हस्ताक्षरयुक्त ज्ञापन मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन,
अनुसूचित जनजाति कल्याण मंत्री चम्पई सोरेन एवं कृषिमंत्री बादल पत्रलेख सहित संबंधित प्रशासनिक पदाधिकारियों को समर्पित किया गया है।
मुंडा जानुमसिंह देवगम की अध्यक्षता में पुराना चाईबासा में चौथी बैठक सम्पन्न हुई। इस बैठक में ऐसी समस्याओं से जूझ चुके गाँवों के मुंडाओं को विशेष आमंत्रित किया गया जो प्रशासन से टकरा चुके हैं। बन्दापंचो के मुंडा अभिरासिंह कुंटिया ने कहा कि सबसे पहले चाईबासा नगरपालिका का कचड़ा निस्तारण प्लांट उनके गाँव में स्थापित करने का प्रयास किया गया था। फिर मौजा- डिलियामर्चा , आचुअमिता , सिकुरसाई और चौथा दफा पुराना चाईबासा जेवियरनगर के कृषि फार्म के लिये अर्जित भूमि पर 0.6 एकड़ भूमि पर यह कचड़ा फैक्ट्री स्थापित किया जा रहा है । मौजा कतिगुटु के मुंडा सिदिऊ पुरती ने कहा कि उनके गाँव की जमीन पर बहुराष्ट्रीय कम्पनी एस्सार समूह के फ्लैट बनाने के लिये ग्रामीणों को परेशान किया गया किन्तु कामयाबी नहीं मिली। प्रशासन की नजर आदिवासियों की जमीनों पर गिध्ददृष्टि लगी हुई है।
विधायक दीपक बिरूआ ने कहा कि यदि चाईबासा शहर के चारों ओर के 20/25 गाँवों के मुण्डा,मानकी, रैयतगण और समाज के बुध्दिजीवी सतर्क ना रहे तो गाँव के गाँव एक- एक करके समाप्त हो जायेगा। समय रहते पूरे कोल्हान के आदिवासी मूलवासी ग्रामीणों को सामाजिक एकता के सूत्र में बंध जांये। अफसोस की बात है कि कोल्हान के जिम्मेदार जनप्रतिनिधि चुप्पी साधे हुए हैं ।
सभा के अन्त में यह निर्णय लिया गया कि मानकी, मुंडाओं ,रैयतों, ग्रामीणों की एक प्रतिनिधिमंडल उपायुक्त, पश्चिमी सिंहभूम से मुलाकात कर अपनी मांग रखेगी और समस्याओं के समाधान हेतु बात रखेगी। यथोचित सर्वमान्य समाधान नहीं होने की स्थिति में आगे जनआंदोलन करने के लिये रणनीति तैयार करने के लिये सम्मति बनी और इसमें क्षेत्र के सभी मुंडा मानकी को जोड़ा जायेगा।सभा को विधायक दीपक बिरूआ, मानकी मुंडा संघ, कोल्हान पोड़ाहाट के केन्द्रीय अध्यक्ष गणेश पाटपिंगुवा, महासभा के केन्द्रीय उपाध्यक्ष नरेश देवगम, मुंडा- बिरसा देवगम, मुंडा-सिदिऊ परती, मुंडा-दुरूवा सुन्डी, मुंडा- अभिरामसिंह कुंटिया, मुंडा- दुधनाथ तियु, पूर्वमुखिया सुमित्रा देवगम, महासभा के सुजीत कालुंडिया एवं मुन्ना सोय, जेएमएम के जिलासचिव सोना देवगम आदि।मंच संचालन नारायण देवगम ने किया और धन्यवाद ज्ञापन मानकी देवगम ने किया।

Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

Leave a Reply