Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

गोस्सनर कालेज का दो दिवसीय स्वर्ण जयंती महोत्सव आज से

- Sponsored -

रांची : गोस्सनर कालेज का दो दिवसीय स्वर्ण जयंती महोत्सव बुधवार से शुरू हो रहा है। यह कालेज पूरे राज्य में एकमात्र ऐसा कालेज है जिसने जनजातीय भाषा की पढ़ाई शुरू कराई। गोस्सनर के कई एलुमिनी छात्र विभिन्न क्षेत्रों में अपना परचम लहरा रहे हैं। भारतीय किक्रेट टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धौनी ने भी इसी कालेज से अपनी पढ़ाई की है। हिदी विभाग के प्रोफेसर प्रशांत गौरव ने बताया कि कालेज स्वर्ण जयंती महोत्सव मना रहा है। प्रिसिपल इलानी पूर्ति ने बताया कि मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन, विशिष्ट अतिथि वित्त मंत्री रामेश्वर उरांव, शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो सहित अन्य लोग इस कार्यक्रम में रहेंगे। कार्यक्रम की शुरूआत सुबह 8:30 बजे होगी।अल्पसंख्यकों के लिए बनाया गया था राज्य का पहला कालेज : इतिहास विभाग के प्रोफेसर बलवीर केरकेट्टा ने बताया कि कालेज 1 नवंबर 1971 से लेकर आज तक चलता आ रहा है। बिहार सरकार के द्वारा अल्पसंख्यक लोगों के लिए चलाए जाने वाला यह पहला कालेज था जिसकी शुरूआत बेथेसदा से हुई थी, जो बेथेसदा आज स्कूल के रूप में मौजूद है। इस कालेज की शुरूआत मात्र 56 रुपये 50 पैसे से हुई थी, इसके संस्थापक निर्मल मिज थे। अनुसूचित जाति और जनजाति के उत्थान के लिए उन्होंने कार्य किया। साथ ही वो सामाजिक कार्य में भी हमेशा आगे रहे। 13 हजार से ज्यादा छात्र ग्रहण कर रहे हैं शिक्षा : कालेज की शुरूआत लूथरन चर्च के द्वारा और उनकी मदद से की गई। भवन निर्माण का काम अभी भी जारी है। कालेज में 28 विभाग हैं जिसमें 200 से ज्यादा कर्मचारी हैं, 13000 विद्यार्थी हैं। मास कम्युनिकेशन वीडियो प्रोडक्शन की प्रोफेसर महिमा गोल्डन ने बताया कि कालेज के पहले प्रतिरूप माडल को प्रदर्शनी के रूप में रखा जाएगा। कई सांस्कृतिक कार्यक्रम भी होंगे। मौके पर प्रो.आशा रानी केरकेट्टा, प्रो.डा. प्रशांत गौरव, प्रो.संतोष कुमार, प्रो.महिमा गोल्डन बिलुंग, कॉलेज के विद्यार्थी सहित अन्य लोग मौजूद थे।

Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

- Sponsored -

Leave A Reply

Your email address will not be published.