Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

एनएसएस वालंटियर आइक्यू की जगह ईएक्यू को बढ़ाने का प्रयास करें और किताबों को अपना दोस्त बनाएं

- Sponsored -

चाईबासा : महिला कॉलेज के बी.एड. विभाग बहुउद्देशीय भवन में बीएड. सत्र 2019-20 के एनएसएस सर्टिफिकेट वितरण समारोह का आयोजन किया गया इस अवसर पर मुख्य अतिथि सीआरपीएफ 197 बटालियन के कमांडेंट परम शिवम , विशिष्ट अतिथि कोल्हान विश्वविद्यालय के एनएसएस समन्वयक डॉक्टर दारा सिंह गुप्ता तथा विशेष अतिथि के रुप में महिला कॉलेज की प्रिंसिपल डॉ सलोमी टोपनो उपस्थित थी। अतिथियो दीप प्रज्वलन कर समारोह को प्रारंभ किया गया। स्वागत भाषण मो. करीम हाशमी के द्वारा किया गया। एनएसएस वालंटियर द्वारा मंगलाचरण तथा धैर्य शीर्षक पर नाटक का मंचन किया गया। कई वॉलिंटियर 2 साल में किए गए काम तथा प्राप्त किए गए अनुभव को बताया। समारोह में उपस्थित महिला कॉलेज की प्राचार्य ने वॉलंटियर को कहा कि जिस लगन से आपने 2 साल तक वॉलिंटियर बन कर काम किया उसी तरह आगे जीवन में समाज का वालंटियर बनकर रहना है। समन्वयक दारा सिंह गुप्ता ने कहा की विश्वविद्यालय हमेशा एनएसएस वालंटियर को प्रोत्साहित करती आई है और आगे भी करेगी एनएसएस का काम समाज में महत्वपूर्ण होता है और इस यूनिट ने कोरोना काल में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाई हैं। इस अवसर पर उपस्थित मुख्य अतिथि कमांडेंट परम शिवम ने वालंटियर को अपनी बहुत सी बातें जो उनसे एनएसएस से जुड़ी हुई थी बताया और और बहुत सारे उदाहरण देकर वालंटियर को प्रेरित करने का प्रयास किया उन्होंने वालंटियर को बताया की आइक्यू की जगह ईएक्यू को बढ़ाने का प्रयास करें तथा किताबों को अपना दोस्त बनाएं जिससे आप जानकारी भी प्राप्त करेंगे और उससे प्राप्त अनुभव को जीवन में उतार पाएंगे।इस अवसर पर दारा सिंह गुप्ता ने एनएसएस के समक्ष आने वाले विभिन्न समस्याओं से अवगत कराया। मुख्य अतिथि ने अपना सहयोग देने का आश्वासन दिया । एनएसएस प्रोग्राम आॅफिसर अर्पित सुमन टोप्पो ने सबके उज्ज्वल भविष्य की कामना की और कहा कि जीवन भर अपने इस सेवा भावना को बरकरार रखे। अतिथि द्वारा बेस्ट वालंटियर का अवार्ड दिव्या शर्मा को दिया गया तथा एक्टिव वालंटियर को प्रोत्साहन हेतु 15 वॉलिंटियर को मोमेंटो प्रदान किया गया । सभी वालंटियर को एनएसएस वालंटियर को एनएसएस प्रमाण पत्र प्रदान किया गया इस अवसर पर डॉ सुचिता, प्रोफेसर डोरिस मिंज, डॉक्टरों ने वाहन की एवं बीएड के सभी शिक्षक शिक्षिकाएं उपस्थित थे।इस कार्यक्रम को सफल बनाने में मुख्य रूप से एनएसएस प्रोग्राम आॅफिसर अर्पित सुमन, मोबारक करीम हाशमी, सुजाता किस्पोट्टा, महावीर मिंज ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

Leave a Reply