Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

दीर्घकालिक अवधि के लिए विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के तीन फाइनल ही आदर्श : रवि शास्त्री

मुंबई, 02 जून (वार्ता) भारतीय क्रिकेट टीम के मुख्य कोच रवि शास्त्री ने कहा है कि अगर अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) दीर्घकालिक अवधि के लिए विश्व टेस्ट चैंपियनशिप (डब्ल्यूटीसी) करवाना चाहता है तो इसके लिए तीन बार फाइनल करवाना आदर्श होगा।

रवि शास्त्री ने इंग्लैंड दौरे पर रवाना होने से बुधवार को एक प्रेस वार्ता के दौरान कहा कि इतने बड़े टूर्नामेंट के विजेता का फैसला एक फाइनल से नहीं होना चाहिए। विश्व टेस्ट चैंपियनशिप में तीन मैचों का फाइनल होना चाहिए। इसे बेस्ट ऑफ तीन कहा जाता है, जिसमें फाइनल में पहुंचने वाली टीमों के बीच तीन मुकाबले होते हैं और दो मैच जीतने वाली टीम विजेता घोषित होती है।

कोच ने कहा, “ डब्ल्यूटीसी फाइनल में तीन मैचों की सीरीज होनी चाहिए थी। सिर्फ एक मैच से फैसला लेना सही नहीं है, हालांकि हम एक मैच के लिए भी तैयार हैं। हमने इस फाइनल तक पहुंचने के लिए काफी मेहनत की है। सिर्फ ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड ही नहीं हमने भी कई मौकों पर मुश्किल समय से खुद को बाहर निकाला है और सीरीज जीते हैं। आईसीसी को भविष्य दौरा कार्यक्रम (एफटीपी) खत्म करने और फिर से शुरुआत करने की जरूरत है। ”

रवि ने कहा, “ डब्ल्यूटीसी फाइनल एक बड़ा मुकाबला है। यह पहली बार है जब आप डब्ल्यूटीसी का फाइनल देखेंगे। अगर इस मैच के महत्व पर नजर डाली जाए तो मुझे लगता है कि यह बड़ा नहीं, बल्कि काफी बड़ा है, क्योंकि यह क्रिकेट का सबसे मुश्किल प्रारूप है। यह ऐसा प्रारूप है जो आपकी परीक्षा लेता है। डब्ल्यूटीसी के फ़ाइनल में जगह बनाने का सफर तीन दिन या तीन महीनों का नहीं है, बल्कि इसके लिए दो से भी ज्यादा वर्ष लगे हैं, जिसमें टीमें दुनिया भर में एक दूसरे के खिलाफ खेलीं और भारतीय टीम ने फाइनल में जगह बनाई। ”

उल्लेखनीय है कि भारतीय टीम 18 जून से साउथम्पटन में न्यूजीलैंड के खिलाफ होने वाले विश्व टेस्ट चैंपियनशिप (डब्ल्यूटीसी) फाइनल में खेलने के लिए गुरुवार को तड़के ब्रिटेन रवाना होगी। इसके बाद टीम चार अगस्त से इंग्लैंड के खिलाफ पांच मैच खेलेगी।

Looks like you have blocked notifications!

Leave a Reply