Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

पानी की तरह बह रहा पैसा,पहुंच से अब भी बहुत दूर है पीने का पानी

- Sponsored -

देवघर(पाथरोल): सरकार की जन कल्याणकारी योजना को ठीकेदार, बिचौलिया कैसे अपने चंगुल में लेकर करोड़ो का खेल खेल लेते हैं। इसका सबसे सुन्दर उदाहरण है मधुपुर के लिए शहरी जलापूर्ति योजना। नदी में बनाया गया कुंआ दो माह में ही 60डिग्री झुक चुकी। पानी स्टोर के लिए जल मीनार कछुए की चाल से निमार्णाधीन है। पाइप बिछाई कागज पर चल रही है। कभी 66 करोड़ तो कभी 57करोड़ लागत राशी बताई जा रही है। कार्ययोजना पुरा होने की कोई समय सीमा तय नहीं है। काम की निगरानी का कोई औचित्य भी नहीं है। पाथरोल थाना छेत्र के चेतनारी साहू टोला स्थित फागो नदी और जयंती नदी के मिलान स्थल से पानी लाकर मधुपुर के कुंडू बंगला में बन रहे फिल्ट्रेशन प्लांट में पानी को साफ किया जायेगा जहां से शहर में पानी सप्लाई होनी है।आस पास के भोले भाले ग्रामीण अगर योजना की जानकारी माँग ले तो उनके साथ अभद्र व्यवहार और रुतबा से डराने का बखूबी काम किया जाता है. झारखंड मुक्क्ति मोर्चा करों प्रखंड के कार्यकारी अध्यक्ष गुलाम असरफ उर्फ राजू ने चेतनारी गाँव में बन रहे पानी सप्लाई योजना में अनियमितता बरते जानें की बात बताई है। कहा की सरकारी योजनाओँ में देर कर टेंडर पर काम करने वाली कम्पनी लाखों की घोटाला करती है। किसी गरीब संथाल ने कुछ पूछ ले तो उसे डराया जाता है। उन्होंने जिला उपायुक्त से कार्य की जाँच करने की माँग की है।
क्या कहते हैं प्रोजेक्ट मैनेजर
प्रोजेक्ट मैनेजर सलिल जेटी का कहना है की कार्ययोजना पुरी होने की कोई तिथि निर्धारित नहीं है. पुरा प्रोजेक्ट 57 करोड़ का है इसमें 9 करोड़ मेंटनेंस के लिए है। काम की समय सीमा नहीं बतायी जा सकती।

Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

- Sponsored -

Comments are closed.