Live 7 Bharat
जनता की आवाज

तेजस्विनी परियोजना अपने उद्देश्यों को कर रहा पूरा: गिनीता

महिला सशक्तिकरण का बेहतर माध्यम है तेजस्विनी परियोजना

- Sponsored -

कयूम खान

- Sponsored -

लोहरदगा: झारखंड सरकार तथा विश्व बैंक के द्वारा हुमाना पीपल टू पीपल इंडिया के सहयोग से लोहरदगा जिले के सभी 7 प्रखंडों में संचालित तेजस्विनी परियोजना महिला तथा बालिकाओं के सशक्तीकरण का बेहतर माध्यम साबित हो रहा हैं। गुरुवार को तेजस्विनी क्लबों में संचालित प्रशिक्षण का निरीक्षण करने तेजस्विनी परियोजना की जिला कार्यक्रम क्रियान्वयन इकाई की मास्टर ट्रेनर गिनीता कुमारी तथा तेजस्विनी परियोजना लोहरदगा के जिला कार्यक्रम प्रबंधक महेंद्र सिंह गुज्जर किस्को व सदर प्रखंड के निरहु, चरहु, निगनी व सरना टोली के तेजस्विनी क्लबों में चल रहे प्रशिक्षण का निरीक्षण किया तथा किशोरियों से परियोजना व प्रशिक्षण के संदर्भ में चर्चा की। मौके पर तेजस्विनी परियोजना की जिला कार्यक्रम क्रियान्वयन इकाई की मास्टर ट्रेनर गिनीता कुमारी ने कहा कि हुमाना पीपल टू पीपल इंडिया के सहयोग से लोहरदगा जिले मे संचालित तेजस्विनी परियोजना अपने उद्देश्य को पूरा कर रहा है, क्लब की किशोरियां तथा महिलाएं समाजिक रूप से सशक्तिकरण के लक्ष्य को प्राप्त कर चुकी हैं, अब उन्हें आर्थिक रूप से सशक्तिकरण करने को लेकर कार्य किया जा रहा है। प्रशिक्षण की गुणवत्ता सराहनीय है किशोरियों के अंदर सामाजिक तथा आर्थिक सशक्तिकरण को लेकर जागरूकता व जानकारी में काफी वृद्धि हुई है। उन्होंने कहा कि यह सराहनीय है कि किशोरिया सामाजिक कुरीतियां अपने हक अधिकार तथा अपने भविष्य को लेकर जागरूक हैं। निरीक्षण के दौरान उन्होंने विभिन्न क्लबों की किशोरियों से परियोजना से संबंधित अनेकों प्रश्न किए जिसका बालिकाओं ने सटीक जवाब दिया जिसकी उन्होंने सराहना करते हुए कहा कि सच्ची लगन और निष्ठा से किए जाने वाले कार्य में सफलता निश्चित होती है। क्लब की किशोरियों सामाजिक व आर्थिक रूप से सशक्त होकर ना सिर्फ अपने परिवार का सहारा बनेगी। उन्होंने कहा कि तेजस्विनी परियोजना का उद्देश्य 14 से 24 आयु वर्ग की किशोरी तथा महिलाओं को सामाजिक व आर्थिक रूप से सशक्त करना है, परियोजना लोहरदगा जिले में अपने इस लक्ष्य की ओर अग्रसर है तथा जल्द ही परियोजना से जुड़ी किशोरिया सामाजिक व आर्थिक रूप से सशक्त होकर सुंदर समाज तथा राष्ट्र के निर्माण में अपना सहयोग देंगी। वहीं परियोजना के जिला कार्यक्रम प्रबंधक महेंद्र सिंह गुज्जर ने कहा कि लोहरदगा जिला के सभी 7 प्रखंडों में कुल 375 तेजस्विनी क्लब स्थापित है जहां की किशोरी तथा महिलाएं आज समाज के अन्य लोगों से कंधे से कंधा मिलाकर चलने को तैयार है। उन्होंने कहा कि परियोजना से जुड़ी बालिकाएं व महिलाएं आज भ्रूण हत्या, बाल विवाह, डायन बिसाही, सामाजिक कुरीतियां, अपने हक तथा अधिकार, शिक्षा का महत्व को से परिचित है। तथा सामाजिक कुरीतियों को मिटाने को लेकर जागरुक है। मौके पर किस्को प्रखंड समन्वयक रेखा देवी, संतोषी कुमारी, फिरोजा खातून सहित काफी संख्या में किशोरियां तथा महिलाएं उपस्थित थी।
Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

- Sponsored -

Comments are closed.

Breaking News: