Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

बेटे ने ही मां-बाप , भाई और अपने बेटे को मौत के घाट उतारा

- Sponsored -

पुलिस के समक्ष गिरफ्तार हत्यारा बेटा मारतोमर खंडाईत और उसके दोस्त राम सिंकु ने हत्या की बात कबूली
पारिवारिक झगड़े और नशा पान के कारण दिया हत्याकांड को अंजाम
चाईबासा : हाटगम्हरिया थाना क्षेत्र के केंदपोसी में एक ही परिवार के 4 लोगों की हत्या की गुत्थी पुलिस ने 36 घंटे के अंदर उद्भेदन कर दिया है। 6 वर्षीय बच्चे सहित चार लोगों की हत्या के आरोप में हत्या का मास्टरमाइंड मृतक ओनामुनी खंडाईत का बड़ा बेटा मारतोम खंडाईत और हत्याकांड में शामिल उसके राम सिंकु को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस के समक्ष गिरफ्तार दोनों हत्यारों ने हत्याकांड में अपनी संलिप्तता स्वीकार की है यह जानकारी एसपी अजय लिंडा ने अपने कार्यालय कक्ष में आयोजित प्रेसवार्ता में दी है। एसपी ने बताया कि गिरफ्तार दोनों अभियुक्त ने मिलकर शुक्रवार देर रात को हत्याकांड को अंजाम दिया है। दोनों ने अपने स्वीकारोक्ति बयान में कहा है कि लगातार पारिवारिक झगड़ा होता था, इसी से छुटकारा पाने के लिये हत्या के अलावा कोई दूसरा रास्ता नहीं था। मैंने अपने दोस्त के साथ योजना बनाकर शुक्रवार रात को मेरे पिता ओनामुनी खंडाईत, भाई गोबरो खंडाईत, माता मानी खंडाईत तथा मेरे छह वर्ष के पुत्र मुगरू खंडाईत को कुल्हाड़ी काटकर मौत के घाट उतार दिया। हत्यारा ने कहा कि पुत्र मुगरू खंडाई को मारने का उद्देश्य नहीं था, उसे गलती से चोट लग गयी जिसके बाद उसकी मौत हो गयी। चाईबासा से 30 किमी दूर हाटगम्हरिया थाना क्षेत्र के केनपोसी गांव में शुक्रवार रात को एक ही परिवार के 4 लोगों की जघन्य हत्या की गई थी, जिसमें एक 6 साल का बच्चा भी है। परिवार के चारों सदस्यों की हत्या कुल्हाड़ी से गर्दन पर वार करके की गई है। हत्याकांड की सूचना पाकर घटनास्थल पर पहुंची पुलिस ने सभी शवों को घर से ही बरामद किया था। केनपोसी गांव के एक ही परिवार के ओनामुनी खंडाईत, उसकी पत्नी मानी खंडाईत, उसके पौत्र मुगरू खंडाईत तथा भाई गोबरो खंडाईत की हत्या को पुलिस ने काफी गंभीरता से लिया था और हत्या की सूचना मिलने के बाद एसपी अजय लिंडा खुद घटनास्थल पर पहुंचे थे उन्होंने ग्रामीणों से जानकारी मिली थी ग्रामीणों के पूछताछ और पुलिस के अनुसंधान में इस हत्याकांड में मृतक का पुत्र ही है हत्या का मास्टरमाइंड निकला। हत्याकांड की घटना को अंजाम देने के बाद दोनों हत्यारे ने नशा पान किया था और यह हत्या भी नशा पान के कारण ही हुई थी मृतक अपने पुत्र को नशा करने से रोकता था और हरिया पीने से मना करने एवं पारिवारिक झगड़े के कारण इस हत्याकांड को मृतक के बेटे ने अपने दोस्त के साथ मिलकर अंजाम दिया था इस घटना के बाद सनसनी मच गई थी और गांव में दहशत फैल गया था घटना की सूचना पाकर एसडीपीओ जगन्नाथपुर इकुरू डुंगडुंग पुलिस निरीक्षक थाना प्रभारी सहित एसपी घटनास्थल पर पहुंचे थे।मृतक ओनामुनी खंडाईत घर के मुखिया थे।उसके दो पुत्र थे मारतोम खंडाईत व गोबरो खंडाईत।मारतोमखंडाईत सबसे बड़ा बेटा है जिस पर हत्या का आरोप है। जबकि गोबरो खंडाईत दूसरा बेटा है। मरमत खंडाईत के दो बेटे थे. जिसमें एक बड़ा बेटा मुगरू खंडाईत जिसे मौत के घाट उतार दिया गया। उनका एक छोटा बेटा अब भी है।मृतक मानी खंडाईत मारतोम खंडाईत की मां है। मारतोम खंडाईत की पत्नी भी उस समय घर पर ही थी। प्रेस वार्ता में एसडीपीओ जगन्नथपुर इकुड़ डुगडुग ,पुलिस निरीक्षक मनोरंजन प्रसाद सिंह ,थाना प्रभारी हाटगम्हरिया बालेश्वर सिंह आदि शामिल थे।
:::::::::

Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

- Sponsored -

Comments are closed.