Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

थम गयी जलेसर के घुंघरू की झनकार

- Sponsored -

एटा:कत्थक सम्राट बिरजू महाराज के चिर निद्रा में लीन हो जाने एटा जिले में घुंघरू नगरी के तौर पर विख्यात जलेसर के घुंघरूओं की खनक थम सी गयी है।
घुँघरू निर्माता और एक्सपोर्टर आशीष गुप्ता रूंधी आवाज में कहते हैं कि बिरजू महाराज के पैरों में बंध कर गजब की झनकार निकालने वाले जलेसर के घुंघरूओं ने आज मानो खामोशी की चादर ओढ़ ली है। बिरजू महाराज को जलेसर के घुंघरूओं से बड़ा लगाव था और वे अपनी परफॉर्मेंस के दौरान खास तौर पर जलेसर के बने घुंघरूओं को मंगाया करते थे।
उन्होने कहा कि विश्व प्रसिद्ध कत्थक नर्तक के पैरों में बंधने के बाद जैसे जलेसर के घुँघरू जीवंत हो उठते थे और ंिजदगी का राग छेड़ देते थे। वैसे तो जलेसर के घुंघरूओं की मांग इनकी खनक की विशेषता की वजह से भारत के कोने कोने सहित पूरे विश्व मे है मगर पंडित बिरजू महाराज ने इनको पूरे विश्व फलक पर पहचान दिलाई। जलेसर के बने घुँघरू पंडित बिरजू महाराज की पहली पसंद होते थे।
घुंघरू नगरी जलेसर के बने घुँघरू की भारत सहित कनाडा, यू एस, जर्मनी, इंग्लैंड सहित पूरी दुनिया मे सप्लाई किये जाते हैं। इसके अतिरिक्त साउथ के मंदिरों, मठों और नृत्य अकादमियों में इनकी बड़ी मांग रहती है।
जानकर लोग बताते हैं कि जलेसर के बने घुँघरूओ की खनक सबसे अलग और देर तक गूंजने वाली होने के कारण उनकी मांग पूरे भारत सहित विश्व भर में हैं। यहाँ के घुंघरूओं में अजीब से खनक पैदा करने में यहाँ की मिट्टी का योगदान है। जिस मिट्टी से इनके सांचे बनाये जाते हैं वो मिट्टी भारत मे कहीं भी नही मिलती इसीलिए जलेसर के बने घुंघरूओं की विशेषता अन्यत्र बने घुंघरूओं में नही आ पाती।
एक अन्य घुँघरू व्यापारी नितिन कुमार बताते हैं कि पंडित बिरजू महाराज को जलेसर के घुंघरूओं से बहुत ज्यादा लगाव था। जब भी वो परफॉर्म करते थे जलेसर के घुंघरूओं को खास तौर से मंगवाया करते थे। उत्तर प्रदेश सरकार ने भी एटा के घुंघरूओं की देश विदेश में ख्याति और मांग को देखते हुए इस उद्योग के संवर्धन और विकास के लिए राज्य सरकार की ‘वन डिस्ट्रिक्ट वन प्रोडक्ट’ योजना के तहत घुँघरू घंटी उद्योग का ही चयन किया है और इसके विकास के लिए यहाँ के व्यापारियों को बैंक ऋण सहित अनेकों सुविधाएं प्रदान कर रही है।

Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

- Sponsored -

Comments are closed.