Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

सिमडेगा जिले में घरोहरों को संरक्षित करने की कवायद तेज

सिमडेगा: जिले के विभिन्न ऐतिहासिक धरोहरों को संरक्षित करने के लिए जिला प्रशासन की ओर से कवायद तेज कर दी गई है। जिले भर में आज विभिन्न स्थानों का दौरा कर उपायुक्त द्वारा जिले भर के विरासतों का जीर्णोद्धार सहित उन्हें बेहतर रूप से सवारने का कार्य की दिशा पर आवश्यक निर्देश दिए। जिसमें जिले के बहुप्रसिद्ध फुलुवाटांगर स्थित भैरोबाबा पहाड़ी पहुंचे और पुरे क्षेत्र का मुआयना किए।

उपायुक्त वहां भैरोबाबा समिति के लोगो से मिल वहां के विकास पर चचार्एं भी किए। जिसके सारे पहलुओं का अवलोकन कर उन्होंने सदर बीडीओ विवेक कुमार को वहां तक पहुंचने के रास्ते को सुदृढ करने और भैरोघाम में सोलर सिस्टम सहित विद्युत व्यवस्था पेयजल तथा शौचालय आदि के भी सुविधा देने आदि के लिए एक मैप प्लान तैयार करने का निर्देश दिए। उपायुक्त ने निरीक्षण के दौरान कहा कि पर्यटन के लिए पहले जो बेसिक सुविधाएं है उसे बहाल किया जाएगा।

उसके बाद इसमें और विकास की गति दी जाएगी। वहीं इसके बाद उपायुक्त बानो के केतुङ्गा घाम पहुंचे। जहां उन्होने खुले में पडी सम्राट अशोक कालीन भगवान बुद्ध की अति प्राचीन प्रतिमा और उसके आसपास के स्थल का मुआयना किया, इसके साथ उन्होने वहां केतुङ्गा धाम मंदिर का भी मुआयना किया। उपायुक्त ने कहा कि अशोक कालीन भगवान बुद्ध की प्रतिमाओं को अति शीघ्र संरक्षण देने की पहल शुरू की जाएगी।

साथ हीं उन्होने केतुङ्गा धाम मंदिर के पास भी लोगो के अवागमन को देखते हुए बेसिक सुविधा देने की बात कही।उपायुक्त ने कहा कि इन सारी चीजों पर पर्यटन की बैठक में प्रस्ताव देकर पारित किया जाएगा इसके बाद यहां विकास धरातल पर उतारी जाएगी। वहीं जिले में इस तरह के पर्यटन के विकास से जिले के विकास की ओर असीम संभावनाएं तथा क्षेत्रीय गांव में वहां के लोगों को इसका सीधा लाभ भी पहुंचेगा। गौरतलब हो कि सिमडेगा जिला प्राचीनतम एवं विभिन्न रमणीक स्थलों से परिपूर्ण है। जिसे सन्मार्ग द्वारा अक्सर प्रकाश में लाया जाता रहा है।

Looks like you have blocked notifications!

Leave a Reply