Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

जब्त गाड़ी खोलेगा लोहा चोर गिरोह का राज, दो कबाड़ी कारोबारी की भूमिका है संदेह के घेरे

- Sponsored -

वर्षो से चल रहा था अमड़ापाड़ा में लोहा चोरी का खेल
रामप्रसाद सिन्हा
पाकुड़: अमड़ापाड़ा प्रखंड मुख्यालय के राजा गैराज के निकट बीते दो दिन पूर्व लोहा चोरी के आरोप में धराये तीन लोगो के खिलाफ पुलिस ने प्राथमिकी दर्ज कर उन्हे जेल भेज दिया है। पुलिस इस मामले की तह तक एवं लोहा चोर गिरोह के उदभेदन में भले ही जुट गयी हो लेकिन वर्षो से चल रहे लोहा चोरी के खेल में जिला मुख्यालय के दो कबाड़ी कारोबारियो की संलिप्तता की चर्चा इन दिनो जोरो पर है। चर्चा यह भी है कि अमड़ापाड़ा थाने की पुलिस ने लोहा चोरी करने गये आरोपी सहबुल शेख, गुलाम मुस्तफा और राजु रजक जिन्हे गिरफ्तार किया है वह तो सिर्फ मोहरा था।

सुत्रो से मिली जानकारी के मुताबिक लोहा चोरी करने गये आरोपियो ने जिन दो वाहनो डब्लुबी 58 एल 9150 एवं जेएच 16 बी 0932 का उपयोग किया था यदि पूरी गहनता से जांच की गयी तो ये वाहन ही लोहा चोर गिरोह का राज भी खोलेगा। प्राप्त जानकारी के मुताबिक इन दोनो वाहनो के मालिक लोहा की खरीद बिक्री का काम करते है और इनका सीधा संबंध जिला मुख्यालय के दो कबाड़ी कारोबारियो से है। सुत्र का तो दावा है कि पुलिस ने यदि जिला मुख्यालय के चर्चित कबाड़ी कारोबारी से सही तरह से पुछताछ की तो अमड़ापाड़ा पनेम कोल परियोजना के खदान बंद होने के बाद करोड़ो रुपए के हुए लोहा चोरी मामले में शामिल शातिर लोहा चोरो का भी पता चल जायेगा।

- Sponsored -

अमड़ापाड़ा थाने की पुलिस ने हाल में ही गैस कटर, आॅक्सीजन सिलेंडर के साथ लोहा की कटिंग करने पहुंचे तीन लोगो जिन्हे ग्रामीणो ने पकड़ कर सौंपा था उनके खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कर जेल भेज दिया है। पुलिसिया तहकिकात भी शुरू हो गयी है। यहां उल्लेखनीय है कि जिला मुख्यालय के अम्बेडकर चैक, मौलाना अबुल कलाम आजाद चैक, प्यादापुर आदि स्थानों में वर्षो से कबाड़िया कारोबार लोहा की खरीददारी कर उसे पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद, वीरभुम और बर्दमान भेजने का काम करते आ रहे है।

प्रशासन द्वारा अबतक इन कबाड़ी कारोबारियो को जांच के दायरे में नही लाया गया है। सुत्रो के मुताबिक इन कबाड़ी कारोबारियो को कुछ अधिकारियो का भी संरक्षण मिला हुआ है और इसके एवज में एक मोटी रकम भी ली जाती है। बहरहाल यह चर्चा जोरो पर है कि हाल में ही लोहा चोरी के मामले में इस्तेमाल किये गये दो चार पहिया वाहन लोहा चोर गिरोह का राज खोल सकता है बशर्ते जांच में शामिल पुलिस पदाधिकारी इसकी तह तक जाय।

Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

- Sponsored -

Comments are closed.