Live 7 Bharat
जनता की आवाज

आतंकवादी करतूतों की निगरानी के लिए जल्द गठित होगा राष्ट्रीय डेटाबेस: शाह

- Sponsored -

बेंगलुरु: केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने मंगलवार को कहा कि केंद्र सरकार जल्द ही हवाला लेनदेन, आतंकवादी फंंिडग और अन्य आतंकवादी करतूतों की निगरानी के लिए एक राष्ट्रीय डेटाबेस विकसित करेगी।
श्री शाह ने यहां नेशनल इंटेलिजेंस ग्रिड (नैटग्रिड) का उद्घाटन करते हुए कहा,‘‘ केंद्र सरकार हवाला लेनदेन, आतंकवादी फंंिडग, नकली मुद्रा, नशीले पदार्थ, बम की धमकी, अवैध हथियारों की तस्करी और अन्य आतंकवादी गतिविधियों की निगरानी के लिए जल्द ही एक राष्ट्रीय डेटाबेस बनाएगी।’’ केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में सरकार पहले दिन से ही आतंकवाद के खिलाफ जीरो टॉलरेंस की नीति अपनाई हुई है।
उन्होंने कहा,‘‘ डेटा, व्यापकता और जटिलता के मामले में पहले की सुरक्षा चुनौतियों की तुलना में आज सुरक्षा आवश्यकताओं में काफी बदलाव आया है। इसलिए, कानूनी और सुरक्षा एजेंसियों को विश्वसनीय सूत्रों से प्राप्त जानकारी के लिए स्वचालित, सुरक्षित और तत्काल पहुंच की आवश्यकता है।’’ केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा कि खुफिया और कानूनी एजेंसियों को अब महत्वपूर्ण डेटा की बाधाओं को दूर करने के साथ नैटग्रिड का पूरा उपयोग करने में सक्षम होना चाहिए।
उन्होंने कहा कि डेटा विश्लेषण और सूचना प्रौद्योगिकी की मदद से एजेंसियों के काम करने के वर्तमान तरीके में आमूलचूल बदलाव होना चाहिए।
श्री शाह ने उम्मीद जतायी कि नेटग्रिड डेटा के विभिन्न माध्यमों को जोड़ने की जिम्मेदारी को पूरा करेगा।
उन्होंने कहा,‘‘ देश में किए गए विभिन्न अपराधों के तौर-तरीकों का डेटाबेस बनाने के लिए नैटग्रिड में एक अध्ययन समूह होना चाहिए। ’’ गृह मंत्री ने कहा कि सी-डैक श्री मोदी के आत्मनिर्भर भारत के लक्ष्य के अनुरूप नैटग्रिड को लागू कर रहा है।
गृह मंत्री ने कहा कि सूचना के विश्लेषण के लिए यह जरूरी है कि सुलभ, वहन करने योग्य, उपलब्ध, जवाबदेह और कार्रवाई योग्य ंिबदुओं को ध्यान में रखा जाए।
उन्होंने कहा कि पुलिस महानिदेशकों के सम्मेलन में श्री मोदी द्वारा की गयी घोषणा, पुलिस प्रौद्योगिकी मिशन जल्द ही शुरू हो जाएगा।
श्री शाह ने नैटग्रिड के कर्मचारियों को उनकी उपलब्धियों के लिए बधाई दी और उन्हें नैटग्रिड को अगले स्तर पर ले जाने के लिए अपने प्रयासों को आगे बढ़ाने के लिए प्रोत्साहित किया।
उन्होंने इसका उपयोग करने वाली एजेंसियों से इस प्रणाली का उपयोग करने में सावधानी और बुद्धिमानी का उपयोग करने का अनुरोध किया, जिससे कि इसका उपयोग केवल सही उद्देश्यों के लिए हो सके।
उन्होंने कहा कि डेटा की गोपनीयता और सुरक्षा एक बहुत ही गंभीर मामला है और इससे किसी भी समय किसी भी नागरिक के व्यक्तिगत डेटा तक अनधिकृत पहुंच न हो।
नैटग्रिड के सीईओ ने कहा कि नैटग्रिड की सेवाएं 11 केंद्रीय एजेंसियों और सभी राज्यों तथा केंद्र शासित प्रदेशों की पुलिस के पास उपलब्ध होंगी।
नैटग्रिड के उद्घाटन समारोह में कर्नाटक के मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई, राज्य के गृह मंत्री अरागा ज्ञानेंद्र, केंद्रीय गृह राज्य मंत्री निशीथ प्रमाणिक और केंद्रीय गृह सचिव भी मौजूद थे।

Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

- Sponsored -

Comments are closed.

Breaking News: