Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

मस्‍जिद में जुमे की नमाज पढ़ रहे थे लोग, आत्मघाती बम धमाका हुआ, 30 की मौके पर ही मौत

- Sponsored -

इस्‍लामाबाद : पाकिस्तान स्थित पेशावर के एक मस्जिद में आत्मघाती बम धमाका हुआ है जिसमें 30 लोगों की मारे जाने की खबर आ रही है। वहीं 50 लोग घायल बताए जा रहे हैं। यह धमाका पेशावर की मस्जिद में शुक्रवार की नमाज के दौरान हुआ है। हमलावर ने जुमे की नमाज पढ़ने मस्जिद में भीड़ को निशाना बनाया। इस घटना में 50 से अधिक लोगों के घायल होने की खबर है। घायलों को पेशावर के लेडी रीडिंग अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। घमाके के बाद मौके पर पहुंचे आसपास के लोगों ने घायलों को अपनी मोटरसाइकिलों और कार पर लादकर अस्पताल पहुंचाया है।

एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि पुलिस प्रशासन अलर्ट पर है। घायलों को अस्पताल ले जाया जा रहा है। बम विस्फोट की प्रकृति की जांच हो रही है। यह एक आत्मघाती हमला मालूम पड़ रहा है। अधिकारियों के हवाले से बताया कि बम धमाका पेशावर के किस्सा ख्वानी बाजार (Qissa Khwani bazaar) इलाके में जामिया मस्जिद में उस समय हुआ जब नमाजी जुमे की नमाज अदा कर रहे थे। यह एक शिया मस्जिद है, जो काफी व्‍यस्‍ततम इलाके में मौजूद है। घटना के दौरान बड़ी संख्‍या में लोग मौजूद थे. फ‍िलहाल किसी भी संगठन ने हमले की जिम्‍मेदारी नहीं ली है।
पुलिसवाले की मौत की भी खबर
फिलहाल पुलिस और सुरक्षा बल ने आसपास के इलाके को खाली करा लिया है। वहां छानबीन जारी है। अभी तक किसी आतंकी संगठन ने इस हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है। जानकारी के मुताबिक, पेशावर की पुलिस ने बताया है कि इसमें दो हमलावर शामिल थे। पहले दोनों ने मस्जिद में घुसने की कोशिश की। फिर रोके जाने पर पुलिसवाले को गोली मार दी. धमाके से पहले हुई गोलीबारी में एक पुलिसवाले की मौत हुई वहीं अन्य जख्मी हैं।

- Sponsored -

पीएम इमरान ने कहा..
पेशावर की मस्जिद में हुए ब्लास्ट पर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान का बयान भी आ गया है. उन्होंने इस हमले की निंदा की है. पेशावर के सीएम महमूद खान ने भी हमले की निंदा की. उन्होंने पेशावर के IGP से इसपर डिटेल रिपोर्ट मांगी है।

ऑस्ट्रेलियाई टीम के पाक पहुंचने के बाद हुआ हमला

- Sponsored -

बड़ी बात यह है कि इस हमले के चंद घंटे पहले ही ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम पाकिस्तान पहुंची है. उनकी सुरक्षा को लेकर पहले से ही चिंता जताई जा रही थी. अब इस हमले से पाकिस्तान की परेशानी फिर से बढ़ने की आशंका है। 2009 में श्रीलंका टीम पर आतंकी हमला होने के बाद करीब 10 साल तक पाकिस्तान में कोई टेस्ट मैच नहीं हुआ था। टीम से वर्ल्ड कप 2011 की मेजबानी भी छीन गई थी।

Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

- Sponsored -

Comments are closed.