Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

महिलाओं का हड़िया-दारु बेचना अभिशाप, इस पेशे से निकलाना है बाहर:मुख्यमंत्री

- Sponsored -

मुख्यमंत्री ने राज्य के पहले दीदी हेल्पलाइन कॉल सेंटर का किया शुभारंभ,
सरकार का हिस्सा बनें महिलाएं, राज्य के विकास में दें साथ
किसान,महिलाएं व ग्रामीणों के विकास के बिना राज्य के विकास की परिकल्पना व्यर्थ
हेमंत सोरेन ने फूलो झानो आशीर्वाद योजना की लाभुकों से किया सीधा संवाद
रांची : मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा राज्य की महिलाओं का हड़िया-दारु जैसे पेशे से जुड़ा एक अभिशाप है। किसी भी राज्य के लिए इससे बड़ा अभिशाप क्या हो सकता है कि वहां की महिलाएं हड़िया-दारु बेचें। इस राज्य में गरीबी व पिछड़ापन है। इसलिए महिलाएं हड़िया-दारु बेचने को मजबूर हैं। हमने तय किया है कि महिलाओं को हड़िया दारु के पेशे से बाहर निकालना है। इस पेशे से मुक्ति दिलाने के लिए फूलो-झानो आशीर्वाद योजना लाई गई है। महिलाएं हड़िया-दारु बेच सकती हैं, तो वे दुकान भी चला सकती हैं या अन्य माध्यम से आजीविका चला सकती हैं। झारखंड में फूलो झानो आशीर्वाद योजना की शुरूआत जिन वीरांगनाओं के नाम पर की गयी है, उसका सार्थक परिणाम सामने आने लगा है। गरीबी और मजबूरी में हड़िया शराब निर्माण और बिक्री के कार्य से जुड़ी महिलाओं ने योजना का लाभ लिया। अपने आत्मविश्वास की बदौलत बदलाव की कहानी गढ़ने लगीं। यह सुखद क्षण है। मुख्यमंत्री दीदी हेल्पलाइन कॉल सेंटर के शुभारंभ के दौरान फूलो झानो आशीर्वाद योजना की लाभुकों से किया सीधा संवाद भी किया। कार्यक्रम का आयोजन प्रोजेक्ट भवन सभागार में गुरुवार को हुआ। सीएम ने कहा,
सरकार को किसान,महिलाएं और ग्रामीण क्षेत्र के लोगों का विकास करना है। जब तक इनका विकास नहीं होगा, राज्य के विकास की परिकल्पना व्यर्थ है। महिलाएं सरकार का हिस्सा बनें। राज्य के विकास में साथ दें। महिला पुरुष साथ आयेंगे तभी राज्य आगे बढ़ेगा। समाज निर्माण में जितना जरूरी पुरुष की भागीदारी है उतनी ही महिलाओं की भी है। मुख्यमंत्री ने 13. 45 करोड़ रुपये का सांकेतिक चेक प्रदान किया। हड़िया, दारू बिक्री, निर्माण का कार्य छोड़ आजीविका के अन्य विकल्प का चयन करने वाली महिलाओं को प्रशस्ति पत्र, स्मृति चिह्न और साड़ी देकर सम्मानित किया। आलमगीर ने 10-10 हजार रुपये का सांकेतिक चेक लाभुक दीदियों को सौंपा। इस अवसर पर ग्रामीण विकास मंत्री आलमगीर आलम, मुख्य सचिव सुखदेव सिंह, सीएम के प्रधान सचिव राजीव अरुण एक्का व सचिव विनय चौबे,ग्रामीण विकास सचिव मनीष रंजन, मुख्य कार्यपालक पदाधिकारी जेएसएलपीएस नैंसी सहाय एवं अन्य लोग उपस्थित थे।
महिलाएं हर क्षेत्र में आगे आयें
सीएम बोले महिलाएं हर क्षेत्र में आगे आएं। सरकार उनके साथ है। गाय व मुर्गी पालन, खेती समेत अन्य व्यवसाय में उनका साथ देगी। अभी कुपोषण से मुक्ति दिलाने और आने वाली पीढ़ी को बेहतर स्वास्थ्य प्रदान करने के लिए स्कूली बच्चों को सप्ताह में छह दिन अंडा भोजन में देने का प्रावधान किया गया है। राज्य की महिलाएं मुर्गी पालन कर अंडा का उत्पादन करें। रसरकार अंडा को क्रय कर लेगी। इस तरह अन्य उत्पाद जैसे सब्जी, अनाज और पत्ते की थाली का भी निर्माण महिलाएं करें। सरकार क्रय करेगी। बस आप सभी योजना का लाभ लें और उसे सार्थक करें। संक्रमण काल में जब सब कुछ थम गया था। लोग अपने घरों में दुबके हुए थे। उस समय सखी मंडल की दीदियों ने बेहतरीन और साहस से भरा कार्य किया था। गांव-गांव में लोगों को भोजन कराया। किसी की भी मृत्यु भूख से नहीं हुई। सखी मंडल के सदस्य इस दौरान मानवता के प्रति किये गए कार्य की मिसाल बनीं थी।
तिरस्कार करने वाले देने लगे सम्मान
मुख्यमंत्री जी धन्यवाद। जो मुझे कभी तिरस्कृत करते थे। आज वही मुझे सम्मान देने लगे है। लोग मुझे बैंक दीदी के नाम से जानते हैं। यह फूलो झानो आशीर्वाद अभियान की बदौलत संभव हुआ। मुझे लोन मिला और मैं सरकार के सहयोग से अब बेहतर जीवन यापन कर रही हूं। ये कहते कहते खूंटी निवासी अनिमा हेरेंज का गला रुंघ जाता है। वो आगे कुछ नहीं कह पायीं। सिर्फ हाथ जोड़ मुख्यमंत्री को पुन: धन्यवाद करती है। अवसर था। फूलो झानो आशीर्वाद अभियान अंतर्गत आजीविका उपलब्धता कार्यक्रम में हड़िया/दारू निर्माण और बिक्री का कार्य छोड़ सम्मानजनक आजीविका के साधनों से जुड़ी महिलाओं का मुख्यमंत्री के साथ सीधा संवाद का।
महिलाओं का सशक्तिकरण सरकार का लक्ष्य : आलमगीर
ग्रामीण विकास मंत्री आलमगीर आलम ने कहा, सरकार की कोशिश रही है कि महिलाओं का सशक्तिकरण किया जाए। इसके लिए फूलो झानो अभियान का शुभारंभ एक वर्ष पूर्व किया गया। इन्हें ब्याज मुक्त लोन उपलब्ध कराया। ताकि उन्हें सम्मानजनक आजीविका का साधन मिल सके। इस दिशा में सरकार गंभीर है। महिलाओं का सर्वांगीण विकास सरकार का लक्ष्य है। राज्य की सखी मंडल बेहतर कार्य कर रहीं हैं। संक्रमण काल में इनका कार्य सराहनीय रहा। जेएसएलपीएस से जोड़ कर इन्हें लाभान्वित किया जा रहा है। 25 लाख लाभुकों को सरकार की विभिन्न बीमा से जोड़ा गया। 30 लाख लाभुकों को जोड़ने का लक्ष्य है। इस लक्ष्य को जल्द प्राप्त कर लिया जाएगा। पलाश ब्रांड झारखंड की पहचान बनेगी। हर प्रखंड तक इसकी पहुंच बने इस दिशा में कार्य हो रहा है।
सिर्फ एक कॉल पर जानकारी
मुख्यमंत्री ने दीदी हेल्पलाइन कॉल सेंटर का शुभारंभ किया। इसके तहत झारखंड स्टेट लाईवलीहुड प्रमोशन सोसाइटी के द्वारा क्रियान्वित विभिन्न योजनाओं से जुड़ी गतिविधियों से संबंधित किसी भी प्रकार की जानकारी सिर्फ एक कॉल पर उपलब्ध होगी। हेल्पलाइन का उद्देश्य जेएसएलपीएस की विभिन्न योजनाओं की जानकारी सुदूरवर्ती गांव के लोगों तक पहुंचना एवं समस्याओं के निराकरण के लिए कार्य करना है। इस हेल्पलाइन के टॉल फ्री नंबर 18004190400 एवं 18004197400 पर कॉल के जरिए जेएसएलपीएस द्वारा संचालित विभिन्न योजनाओं की जानकारी ली जा सकती है।

 

Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

Leave a Reply