Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

ईसा मसीह का जन्म पूरे विश्व के लिए शांति का सन्देश देती है: रेभ. जोहन भेंगरा

- Sponsored -

ऑनलाइन आराधना में शामिल हुए हजारों मसीही व विश्वासी लोगबाग 
कयूम खान 
लोहरदगा: क्रिसमस की आराधना एन डब्ल्यू जीईएल चर्च में आयोजित की गई। जिसमें आराधना का संचालन रेभ. नेम्हस  एक्का एवं उपदेश रेभ. जोहन भेंगरा के द्वारा किया गया। इस अवसर पर ऑनलाइन के द्वारा भी विश्वासी लोग आराधना में शामिल हुए।
आराधना की शुरुवात प्रार्थना जय झण्डा लकड़ा एवं निर्मला तिर्की के द्वारा की गई। इस अवसर पर पवित्र बाइबल से पाठ क्रमश अंशु कुजूर तथा दूसरा पाठ वचन मनीषा एक्का के द्वारा पढ़ा। उपदेश में पादरी जोहन भेंगरा ने कहा कि क्रिसमस प्रेम और शांति का सन्देश देती है। प्रभु ईशु मसीह के द्वारा हमारा उद्धार हुआ है। सिर्फ ईशु नाम में उद्धार है, इसलिए परमेश्वर ने मानवजाति के उद्धार के लिए अपने पुत्र ईशु को इस धरती पर भेजा। हम सब ईश्वर के अनुग्रह ही से हमारा उद्धार हुआ है। हमारे पापों की क्षमा के लिए मनुष्यरूप धारण किया।
इस अवसर पर सभी विश्वासी जन मिलकर ईशु मसीह के जन्म से संबंधित गीतों एवं भजनों को गाया। इस क्रिसमस की आराधना में मुख्य रूप से अमरनाथ लकड़ा, गोस्सनर कुजूर, जय झण्डा लकड़ा, सजीत लकड़ा, निरंजन एक्का,  निझारेस कुजूर, विजय लकड़ा, डॉ जयवंत लकड़ा, डॉ सुषमा लकड़ा, शबनम मिंज, चोन्हाती एक्का, मनोरमा एक्का, सुशीला बड़ा, निर्मला तिर्की, सुमिरन टोप्पो, जॉर्ज केरकेट्टा, इत्यादि उपस्थित थे। चर्च आराधना के बाद मसीही बहनें अपने घरों में बने पकवान लेकर आईं, जिसको एक दूसरे के साथ बांटा गया और क्रिसमस की बधाईयां दीं। उसके उपरान्त सभी मिलकर मांदर, ढोल और नगाड़े के साथ क्रिसमस के गीतों को गाकर नाचकर अपनी खुशी को उजागर किया।

- Sponsored -

Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

- Sponsored -

Comments are closed.