Live 7 Bharat
जनता की आवाज

टाटा मोटर्स: बोनस की बातचीत प्रारंभ, यूनियन और प्रबंधन के बीच समझौता जल्दी हो सकता है

- Sponsored -

WhatsApp Image 2023 09 14 at 11.58.10

टाटा मोटर्स में बोनस की वार्ता प्रबंधन और यूनियन के बीच शुरू हो गई है। इस वार्ता के माध्यम से बोनस के समझौते की आशा है कि वह जल्द ही फाइनल हो सकता है। बुधवार को बोनस को लेकर प्रबंधन और यूनियन के बीच लगभग दो घंटे की बैठक चली। गुरुवार को भी वार्ता हो सकती है।

कर्मचारियों की नजर बोनस से ज्यादा स्थायीकरण पर है। 17 सितंबर से बोनस समझौता होने की संभावना है। टाटा मोटर्स वर्कर्स यूनियन के अध्यक्ष गुरमीत सिंह और महामंत्री आरके सिंह का कहना है कि बोनस वार्ता में यूनियन प्रबंधन के सामने मजदूरों के हित में बेहतर बोनस और स्थायीकरण की मांग की जा रही है। उम्मीद है कि बेहतर नतीजे सामने आएंगे, हालांकि अब तक कुछ और जानकारी नहीं है।

हर साल बाइ सिक्स कर्मचारियों को किया जाता है स्थायीकरण, और टाटा मोटर्स जमशेदपुर एकमात्र कंपनी है जो हर साल अपने कई बाइ सिक्स कर्मचारियों को स्थायीकरण का तोहफा देती है। यूनियन ज्यादा से ज्यादा बाइ सिक्स का स्थायीकरण कराने के प्रयास में है। वर्तमान में लगभग 3,700 बाइ सिक्स हैं, जो कंपनी में टेम्परोरी पूल में काम कर रहे हैं। कंपनी की प्रोडक्शन बढ़ते ही इन्हें ड्यूटी पर बुलाया जाता है, और प्रोडक्शन कम होने पर उन्हें बैठा दिया जाता है। बाइ सिक्स कर्मचारी पहले टीएमएसटी में बहाल होते हैं, तीन साल की ट्रेनिंग के बाद कर्मी पुत्र कंपनी में अस्थायी तौर पर बाइ सिक्स के रूप में काम करने के लिए चुने जाते हैं।

- Sponsored -

इस तरह, टाटा मोटर्स कर्मचारियों को हर साल स्थायीकरण का तोहफा देती है और यूनियन भी स्थायीकरण की मांग कर रहा है। बोनस समझौता 17 सितंबर को होने की संभावना है, और कर्मचारियों के लिए यह एक बड़ी खुशखबरी हो सकती है।

- Sponsored -

बोनस की इतिहास

यहाँ दिए गए हैं पिछले कुछ वर्षों में टाटा मोटर्स कर्मचारियों को मिले बोनस के विवरण:

  • 2010 – 11: न्यूनतम 25,013 रुपये, अधिकतम 37,476 रुपये, प्रतिशत स्थायीकरण 16.65%
  • 2011 – 12: न्यूनतम 27,034 रुपये, अधिकतम 40,198 रुपये, प्रतिशत स्थायीकरण 17%
  • 2012 – 13: न्यूनतम 18,000 रुपये, अधिकतम 33,550 रुपये, प्रतिशत स्थायीकरण 13.4%
  • 2013 – 14: न्यूनतम 14,490 रुपये, अधिकतम 31,390 रुपये, प्रतिशत स्थायीकरण 10.5%
  • 2014 – 15: न्यूनतम 14,135 रुपये, अधिकतम 24,500 रुपये, प्रतिशत स्थायीकरण 10%
  • 2015 – 16: न्यूनतम 16,200 रुपये, अधिकतम 33,150 रुपये, प्रतिशत स्थायीकरण 12.25%
  • 2016 – 17: न्यूनतम 17,893 रुपये, अधिकतम 36,018 रुपये, प्रतिशत स्थायीकरण 10.301%
  • 2017 – 18: न्यूनतम 23,231 रुपये, अधिकतम 46,321 रुपये, प्रतिशत स्थायीकरण 12.2%
  • 2018 – 19: न्यूनतम 19,000 रुपये, अधिकतम 49,000 रुपये, प्रतिशत स्थायीकरण 12.9%
  • 2019 – 20: न्यूनतम 32,900 रुपये, अधिकतम 46,001 रुपये, प्रतिशत स्थायीकरण 10.221%
  • 2020 – 21: न्यूनतम 38,200 रुपये, अधिकतम 50,200 रुपये, प्रतिशत स्थायीकरण 10.6%
  • 2021 – 22: न्यूनतम 38,200 रुपये, अधिकतम 51,500 रुपये, प्रतिशत स्थायीकरण 10.67%

इसके साथ ही, टाटा मोटर्स ने कर्मचारियों के लिए स्थायीकरण की दर में वृद्धि की है, जो कर्मचारियों के लिए एक अच्छी खबर हो सकती है।

इस वार्ता के बाद टाटा मोटर्स के कर्मचारियों के लिए आगामी दिनों में स्थायीकरण की घोषणा की जा सकती है, और यह उनके लिए एक बड़ी खुशखबरी हो सकती है।

Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

- Sponsored -

Comments are closed.

Breaking News: