Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

ताईवानी कंपनी भारत में तीसरे संयंत्र की कर रहीं योजना

- Sponsored -

भारत में वाहन टायर क्षेत्र में व्यापार की विशाल संभावनाओं को देखते हुए टायर का कच्चा माल कार्बन ब्लैक बनाने वाली दुनिया की प्रमुख ताईवानी कंपनी कॉन्टीनेन्टल कार्बन भारत में तीसरे संयंत्र की योजना बना रही है। कंपनी 30 करोड़ डालर के निवेश से भारत में दो कारखाने पहले ही स्थापित कर चुकी है।
काॅन्टीनेन्टल कार्बन (इंडिया) के अध्यक्ष टी एम चेन ने बुधवार को यहां संवाददाताओं को कंपनी की योजनाओं और भारत में संभावनाओं के बारे में बातचीत करते हुए तीसरे कारखाने के विचार की जानकारी दी। नये कारखाने पर कंपनी 20 करोड़ डालर का निवेश करने पर विचार कर ही है।
श्री चेन ने कहा कि भारत में उनकी कंपनी के लिए व्यापक संभावनायें हैं। उनके उत्पाद की यहां बहुत मांग है। टीवीएस, जेके टायर जैसी कई नामचीन कंपनियां उनकी ग्राहक हैं। उन्होंने बताया कि कार्बन ब्लैक भारत से दुनिया के बाजारों में माल के निर्यात की भी तैयारी में है और जल्द ही वह विदेशों को अपना उत्पाद भेजने लगेंगे।
दुनिया भर में उनकी कंपनी की नौ फैक्ट्री हैं जिनमें दो भारत के दिल्ली और भरूच में हैं। उन्होंने कहा कि दुनिया भर में कार्बन ब्लैक की मांग बढ़ रही है, खासकर ऑटोमोबाइल और टायर उद्योग में इसकी खपत तेजी से बढ़ी है। इसके मद्देनजर उत्पादन बढ़ाने के लिए वह कुशल पेशेवरों के साथ अन्य क्षेत्रों पर ध्यान केन्द्रित कर रहे हैं।
श्री चेन ने बताया कि इसी माह 14 अक्टूबर को गुजरात के भरूच में शुरू हुई कंपनी में करीब 500 लोगों को प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष रूप से रोजगार मिलेगा। इसके साथ ही भारत में उनकी उत्पादन क्षमता 150000 टन वार्षिक हो जायेगी। भारत में उनकी पहली फैक्ट्री गाजियाबाद में वर्ष 2000 में स्थापित की गयी थी। भारत में उनकी दोनों उत्पादन इकाइयों में लगभग 85 हजार टन कार्बन ब्लैक का उत्पादन होता है।
उन्होंने कहा कि कंपनी भारत के रबर और प्लास्टिक उद्योग की नयी जरूरतों पर ध्यान केन्द्रित करेगी। कंपनी अनुसंधान, विकास और प्रौद्योगिकी उन्नयन के साथ पेशेवर सेवायें प्रदान करेगी।

Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

- Sponsored -

Comments are closed.