Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

यूक्रेन में फंसे भारतीयों को लेकर सुप्रीम कोर्ट की सख्त टिप्पणी,कहा- ये दुर्भाग्यपूर्ण है, पिछली गलतियों से नहीं लिया सबक

- Sponsored -

नई दिल्ली :रूस-यूक्रेन जंग के बीच फंसे भारतीयों को लेकर शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट ने सख्त टिप्पणी की। कोर्ट ने कहा, ‘ये दुर्भाग्यूपर्ण है। हमने पिछली गलतियों से सबक नहीं लिया, जंग का इंतजार किया। विद्यार्थियों को लेकर चिंता है।’

- Sponsored -

सुप्रीम कोर्ट ने अटॉर्नी जनरल केके वेणुगोपाल को यूक्रेन में फंसे भारतीयों को निकालने के बारे में केंद्र सरकार से दिशा-निर्देश प्राप्त करने के लिए कहा। कोर्ट ने कहा कि वह अभिभावकों के लिए हेल्पलाइन आदि की संभावना पर भी केंद्र से बात करें।
सुनवाई के दौरान प्रधान न्यायाधीश एनवी रमण की अध्यक्षता वाली पीठ ने वेणुगोपाल से कहा कि वह बेंगलुरु की रहने वाली फातिमा आहना और अन्य मेडिकल विद्यार्थियों की वापसी सुनिश्चित करें, जो कि रोमानिया की सीमा पर फंसे हैं।
इस पर वेणुगोपाल ने सुप्रीम कोर्ट से कहा कि केंद्रीय विमानन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने यूक्रेन सीमा पर फंसे याचिकाकर्ता विद्यार्थी से संपर्क किया है। यह विद्यार्थी अब रोमानिया सीमा पार कर चुका है। उसे विशेष विमान से आज रात अन्य भारतीयों के साथ स्वदेश लाया जाएगा।
शीर्ष कोर्ट को सरकार की ओर से बताया गया कि यूक्रेन के जंग वाले इलाकों से अब तक 17 हजार भारतीयों को लाया जा चुका है।सुनवाई कर रही पीठ में जस्टिस एएस बोपन्ना व जस्टिस हिमा कोहली भी शामिल हैं। पीठ ने कहा कि हम केंद्र सरकार के प्रयासों की तारीफ करते हैं, हम इस बारे में कुछ नहीं कह रहे हैं, लेकिन हमें चिंता है। सुप्रीम कोर्ट यूक्रेन से भारतीयों की निकासी को लेकर दो याचिकाओं की सुनवाई कर रही है।

Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

- Sponsored -

Comments are closed.