Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

केंद्रीय गृह राज्य मंत्री का बेटा आशीष मिश्रा गिरफ्तार

लखीमपुर हिंसा मामले का मुख्य आरोपी आशीष मिश्र गिरफ्तार। पूछताछ में सहयोग नहीं करने पर हुए गिरफ्तार,

- Sponsored -

11 घंटे पूछताछ के बाद हुए गिरफ्तार, सवालों का सीधा जवाब नहीं दिया, बहुत से सवालों का जवाब भी नहीं दिया

लखीमपुर खीरी 09 अक्टूबर (वार्ता) उत्तर प्रदेश में लखीमपुर खीरी के तिकुनिया में पिछले रविवार को हुयी हिंसा में आठ लोगों की मौत के मामले में पुलिस की अपराध शाखा के अधिकारी केन्द्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र टेनी के पुत्र आशीष मिश्र उर्फ मोनू से लंबी पूछताछ के बाद गिरफ्तारी है।

पुलिस सूत्रों ने बताया कि आशीष शनिवार सुबह 1035 बजे क्राइम ब्रांच के अधिकारियों के सामने पेश हुआ था। वह स्कूटी से पुलिस लाइन पहुंचा और मीडियाकर्मियों को चकमा देते हुये पिछले गेट से प्रवेश कर गया। क्राइम ब्रांच के अधिकारियों ने सुबह 11 बजे उससे पूछताछ शुरू कर दी।

- Sponsored -

उन्होने बताया कि अब तक प्राप्त जानकारी के अनुसार आशीष साथ लाये साक्ष्यों में यह साफ नहीं कर सका कि वह घटना के समय कहां था। साथ लाये वीडियो में तिकुनिया में घटी हिंसक घटना के समय दंगल में होने की पुष्टि नहीं हो सकी है। आशीष की सफाई और साक्ष्यों से अधिकारी संतुष्ट नहीं है जिसके बाद उसकी गिरफ्तार के आसार बढ़ गये है हालांकि पुलिस अधिकारी इस बारे में अभी कुछ कहने से इंकार कर रहे है। इस बीच जिले में एहतियात के तौर पर पुलिस की चौकसी बढ़ा दी गयी है।

- Sponsored -

सूत्रों ने बताया कि क्राइम ब्रांच ने मजिस्ट्रेट की मौजूदगी में आरोपी के सामने 40 सवालो की सूची रखी थी। पूछताछ की वीडियो रिकार्डिंग भी की गयी। आरोपी घटना के वीडियो की कई पेन ड्राइव साक्ष्य के तौर पर साथ लेकर आया था जिसमें दर्शाया गया था कि घटना के समय वह वहां मौजूद नहीं था बल्कि वहां से काफी दूरी पर बनवीरपुर गांव में दंगल के कार्यक्रम में व्यस्त था।

पूछताछ के दौरान आशीष से एक लिखित बयान उसके वकील की उपस्थिति में लिया गया। आशीष के वकील अवधेश कुमार ने कहा कि उनका मुवक्किल नोटिस का सम्मान करता है और जांच में हर प्रकार से सहयोग देने को तैयार है। पूछताछ के दौरान डीआईजी और एसपी रैंक के अधिकारी मौजूद रहे।

इस बीच शुक्रवार रात लखनऊ पुलिस ने छापा मार कर आशीष के दोस्त अंकित दास के घर से एसयूवी बरामद की जो घटना के दिन वहां मौजूद थी। हालांकि अंकित पुलिस के हाथ नहीं लगा लेकिन पुलिस ने उसके चालक को हिरासत में ले लिया। अंकित दिवंगत बसपा सांसद अखिलेश दास का भतीजा है। इस मामले में पुलिस ने आशीष के खिलाफ आईपीसी की धारा 302, 120बी, 304ए 147,148,149 ,279 और 338 के तहत मामला दर्ज किया है।

Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

- Sponsored -

Comments are closed.