Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

23 मामलों में वांछित राजेश टाइगर समेत पीएलएफआइ के छह उग्रवादी गिरफ्तार

- Sponsored -

खूंटी : मुठभेड़ सहित विभिन्न 23 संगीन मामलों के नामदर्ज आरोपित पीएलएफआई के पूर्व एरिया कमांडर राजेश गोप उर्फ राजेश टाइगर उर्फ ढिलन सहित छह उग्रवादियों को पुलिस और सीआरपीएफ की संयुक्त टीम ने गुरुवार को रनिया थाना के हालोम से जोजोवीर जाने वाले रास्ते से गिरफ्तार कर लिया। राजेश गोप गुमला जिले के सिसई थाना के कुसुमटोली का रहने वाला है। गिरफ्तार उग्रवादियों में प्रकाश कुमार साहू(मरचा बनिया टोली), शिव कुमार साहू(रनिया चौक), सिमोन गुड़िया(बघिया, रनिया), प्रदीप कुमार बागची उर्फ चांदसी और नकुल सिंह(तुरीगड़ा, रनिया निवासी) शामिल हैं। उनके पास से एक देसी कट्टा, चार जिंदा गोली, 14 मोबाइलब फोन, पीएलएफआइ पर्चा और चंदा रसीद, अपाची मोटरसाइकिल और दैनिक उपयोग के सामान बरामद किये गये हैं। शुक्रवार की शाम तोरपा थाना में आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में पुलिस अधीक्षक आशुतोष शेखर ने बताया कि पुलिस को गुप्त सूचना मिली थी कि प्रतिबंधित नक्सली संगठन के कुछ उग्रवादी करमा उरांव और राजेश टाइगर के नेतृत्व में रनिया थाना के हालोम से जोजावीर जानेवाले रास्ते में जमा हैं और किसी बड़ी घटना को अंजाम देने की योजना बना रहे हैं। सूचना के आलोक में एसपी के निर्देश पर एएसपी अभियान रमेश कुमार और सीआरपीएफ 94 बटालियन के द्वितीय कमान अधिकारी प्रकाश रंजन मिश्रा के नेतृत्व में छापामारी दल का गठन किया गया और छापेमारी कर राजेश टाइगर गोप सहित सभी छह उग्रवादियों को गिरफ्तार कर लिया। हालांकि कुछ उग्रवादी भागने में सफल रहे। एसपी ने बताया कि राजेश टाइगर पुलिस के साथ हुई कई मुठभेड़ों में शामिल रहा है।
पकड़े गये पीएलएफआइ उग्रवादी राजेश गोप उर्फ राजेश टाइगर के खिलाफ 23 मामले दर्ज हैं। एसपी आशुतोष शेखर ने बताया कि उसके खिलाफ खूुंटी, गुमला, पश्चिमी सिंहभूम सहित अन्य थानों में 23 मामले दर्ज हैं। पुलिस को लंबे समय से उसकी तलाश थी। राजेश के खिलाफ गुमला जिले के बसिया थाने में दस मामले दर्ज हैं। उसके खिलाफ रायडीह थाने में दो, कामडारा में दो, सिसई में छह, गुमला थाने में एक, गुदड़ी थाने में एक और पालकोट थाना में एक मामला दर्ज है। गिरफ्तार प्रकाश कुमार साहू के खिलाफ भी रनिया थाने में उग्रवादी घटनाओं को लेकर दो मामले दर्ज हैं। उग्रवादियों को गिरफ्तार करने वाली टीम में तोरपा के एसडीपीओ ओम प्रकाश तिवारी, इंस्पेक्टर दिग्विजय सिंह, तोरपा के थाना प्रभारी मुन्ना कुमार सिंह, रनिया के थाना प्रभारी रौशन कुमार सिंह, तपकारा थानेदार सत्यजीत कुमार, कर्रा थाना प्रभारी दीपक कुमार सिंह, एसआई संजीव कुमार, मनीष कुमार, जितेंद्र कुमार यादव, निशांत केरकेट्टा, रंजीत किशार के अलावा सैट 120, जैप 4 तोरपा, सीआरपीएफ 94 बटालियन और सशस्त्र बल के जवान शामिल थे।

Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

- Sponsored -

Comments are closed.