Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

सिमड़ेगा:मानवता का दर्द दिल में रखते हैं – एसपी

शिक्षकों का सम्मान करना समझते हैं, अपना कर्तव्य

- Sponsored -

IMG 20211205 WA0018

- Sponsored -

सिमडेगा: गरीब एवं असहाय छात्र/छात्राओं के बेहतर पठन-पाठन के पश्चात् दशम् वर्ग की परीक्षा में अच्छी सफलता पाने हेतु सिमडेगा जिला पुलिस द्वारा प्रारम्भ किये गये ‘‘पुलिस अंकल ट्यूटोरियल‘‘ के कोआर्डिनेटर एवं सिमडेगा के प्रसिद्ध शिक्षक प्रेम कुमार शर्मा इन दिनों बीमार चल रहे हैं। इसकी सूचना रविवार संध्या जैसे ही पुलिस कप्तान, सिमडेगा को मिली, मानवता का दर्द दिल में रखने वाले डाॅ0 शम्स तब्रेज़ ने अपने साथ अनुमण्डल पुलिस पदाधिकारी, सिमडेगा एवं पुलिस निरीक्षक-सह-थाना प्रभारी, सदर थाना (सिमडेगा) को लेकर शिक्षक श्री शर्मा के नीचे बाजार (सिमडेगा) स्थित उनके आवास पर पहुँचकर उनके स्वास्थ्य की विस्तृत जानकारी ली। उनके स्वास्थ्य-लाभ की कामनायें कीं। स्वास्थ्य लाभ के लिए उनका मनोबल ऊँचा किया। शुभकामनाओं के साथ फलों की टोकरी भेंट की।ज्ञात हो कि पुलिस अधीक्षक, सिमडेगा शिक्षकों का सम्मान करना जानते हैं। कारण कि वे स्वयं भी एक शिक्षाविद् हैं, जो स्वयं चार विषयों में स्नातकोत्तर सहित पी0एच0डी0 की उपाधि प्राप्त हैं। इस वर्ष शिक्षक दिवस के पावन अवसर पर इन्होंने यह कहा था कि-‘‘मैं अपने तमाम गुरूओं का, जिन्होंने बचपन से लेकर अब तक मुझे ज्ञान दिया तथा जिनके आशीर्वाद की बदौलत मैं एक मुकाम पर हूँ, श्रद्धापूर्वक नमन करता हूँ। आज मैं जो भी हूँ वो अपनी बदौलत नहीं बल्कि माता-पिता के आशीर्वाद एवं उनके संस्कार सहित गुरूओं के गुरू-ज्ञान के कारण हूँ। मेरा मानना है कि बिना गुरू ज्ञान के कोई भी अपने सफलता के पायदान पर चढ़ नहीं सकता और अपने जीवन में कामयाबियाँ हासिल नहीं कर सकता। मैं बचपन से सौभाग्यशाली रहा कि अपने माता-पिता का एक अलग संस्कार मुझे मिला और बहुत ही काबिल गुरूजनों से ज्ञान प्राप्त किया। गुरूओं में अनगिनत बेमिशाल गुरू का सानिध्य मुझे प्राप्त रहा और आज भी मैं अपने तमाम गुरूओं का बड़ा आदर एवं सम्मान करता हूँ।‘‘ शिक्षक दिवस के अवसर पर पुलिस कप्तान ने सिमडेगा जिला के एक ऐसे सेवा-निवृत गुरू से रू-ब-रू होकर उनसे आज की परिस्थिति में शिक्षा पर उनकी प्रतिक्रिया जाननी चाही, जिनका नाम श्री एलियास सोरेंग है, तथा जो प्रधानाध्यापक के पद से 31 अक्टूबर, 2019 को सेवानिवृत हुए थे।साक्षात्कार के दौरान पुलिस अधीक्षक, सिमडेगा ने जिला के सेवा-निवृत गुरू श्री एलियास सोरेंग को गुरू रवीन्द्रनाथ टैगोर की एक सुन्दर पुस्तक सम्मान स्वरूप भेंट की थी। पुलिस कप्तान का मानना है कि- ‘‘गुरू तो गुरू होते हैं और अगर किसी को अच्छे गुरू का सानिध्य प्राप्त हो जाता है तो, वह छात्र/छात्रा धन्य हो जाते हैं।‘‘ आज पुनः इन्होंने यह प्रमाणित कर दिया है कि इनके दिल में शिक्षकों के प्रति कितना आदर और सम्मान विद्यमान है।

Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

- Sponsored -

Comments are closed.