Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

शिवराज ने राहुल, कमलनाथ और दिग्विजय पर बोला हमला

- Sponsored -

भोपाल : मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कांग्रेस की पूर्व मंत्री सुलोचना रावत के पुत्र समेत भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) में शामिल होने पर कांग्रेस नेताओं के बयानों के परिप्रेक्ष्य में आज वरिष्ठ नेता राहुल गांधी, कमलनाथ और दिग्विजय सिंह पर हमला बोलते हुए कहा कि वे अपना ‘घर’ देखें।
श्री चौहान ने यहां प्रदेश भाजपा कार्यालय में अलीराजपुर जिले की आदिवासी नेता श्रीमती रावत और उनके पुत्र विशाल रावत के भाजपा में औपचारिक प्रवेश के दौरान मीडिया से चर्चा में यह बात कही। इस मौके पर प्रदेश भाजपा अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा ने भी कांग्रेस नेताओं को आड़े हाथों लिया।
श्री चौहान ने कहा कि वे रावत परिवार को वर्षों से जानते हैं और क्षेत्र में उन पर कोई उंगली नहीं उठाता है। लेकिन अब वे भाजपा में आ गयी हैं, तो कांग्रेस नेताओं को तकलीफ क्यों हो रही है। उन्होंने कहा, ‘कमलनाथ अपना घर देखते नहीं हो। वल्लभ भवन में कौन कौन दलाली खाता था, ये तो बता दो पहले।’ श्री चौहान ने कहा कि इधर ‘ये’ कांग्रेस को निपटाने में लगे हैं और केंद्र में श्री राहुल गांधी। पंजाब में अच्छी भली सरकार को संकट में ला दिया। छत्तीसगढ़ की स्थिति भी सबके सामने है। पहले कांग्रेस नेता ‘जी 23’ नेताओं से बात तो करें। फिर इधर उंगली उठाएं।
दरअसल श्रीमती रावत के भाजपा में प्रवेश पर कांग्रेस नेताओं ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए ऐसा करने वालों को ‘बिकाऊ’ कह दिया है। इस संबंध में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष के मीडिया समन्वयक नरेंद्र सलूजा ने ट्वीट भी किया है।
श्री चौहान ने पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के स्वास्थ्य के संबंध में कल उनके (श्री कमलनाथ) द्वारा मुख्यमंत्री को ‘रेस’ करने की चुनौती दिए जाने संबंधी बयान का जिक्र करते हुए कहा कि वे रेस करने का काम कतई नहीं करेंगे। उन्होंने कहा, ‘मैं कोई दुश्मन नहीं हूं, उनका।’ उन्होंने श्रीमती रावत और उनके पुत्र का भाजपा में हार्दिक स्वागत करते हुए कहा कि कांग्रेस ने कभी भी आदिवासी बहुल अलीराजपुर जिले का विकास नहीं किया। जो भी विकास कार्य हुए भाजपा के शासनकाल में हुए। उन्होंने कहा कि इसी वजह से गरीब और आदिवासी भाजपा के साथ हैं।
इसके पहले श्री शर्मा ने दोनों नेताओं का स्वागत करते हुए कहा कि श्रीमती रावत जनजातीय क्षेत्र का बड़ा चेहरा हैं और वे पुत्र समेत भाजपा परिवार में आयी हैं। उन्होंने दोनों का स्वागत करते हुए कहा कि उन्हें कभी भी अहसास नहीं होगा कि वे किसी अन्य परिवार में हैं। श्री शर्मा ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री श्री चौहान ने क्रमश: देश और प्रदेश में आदिवासियों के हित में अनेक काम किए हैं। इन्हीं से प्रभावित होकर दोनों ने भाजपा की सदस्यता ली है।
श्री शर्मा ने कहा कि कांग्रेस नेता इस संबंध में बिकाऊ जैसे शब्दों का उपयोग कर आदिवासी बहन का अपमान कर रहे हैं। कांग्रेस नेता इस तरह की भाषा का उपयोग पहले भी करते आ रहे हैं और यह उनका चरित्र है।श्रीमती रावत और उनके पुत्र विशाल ने भी संबोधन में भाजपा में शामिल होने पर प्रसन्नता जतायीं। हालाकि श्रीमती रावत अपने संबोधन के दौरान भावुक भी हो गयीं। उन्होंने श्री मोदी और श्री चौहान की सराहना की और कहा कि अब गांवों में जल और अन्य मूलभूत सुविधाओं का विकास और विस्तार हो रहा है।
दूसरी ओर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष के मीडिया समन्वयक नरेंद्र सलूजा ने सिलसिलेवार ट्वीट में कहा है, ‘मध्यप्रदेश में भाजपा कार्यकर्ता नेता सिर्फ दरी बिछाने के लिए, बेचारे दिन रात संघर्ष कर फसल तैयार करते हैं और काटने के लिए पार्टी बिकाऊ को खड़ा कर देती है, बेचारे वर्षों के टिकाऊओं के लिए काम करना पड़ता है। कब तक भाजपा कार्यकर्ताओं का हक मारती रहेगी न्यू भाजपा।’ श्री सलूजा ने लिखा है, ‘सौदेबाजी व बोली से प्रदेश में सरकार बनाने वाली भाजपा अभी भी खरीद फरोख्त से बाज नहीं आ रही है। भाजपा की कितनी दयनीय स्थिति है कि उसे इन उपचुनावों में प्रत्याशी तक नहीं मिल रहे हैं, इसलिए खरीद फरोख्त का खेल फिर से चालू, इमरती देवी, जाटव, एदल कंसाना , राहुल लोधी जैसा हश्र होगा।’

Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

- Sponsored -

Comments are closed.