Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

सेवा करना धर्म : नीतीश

- Sponsored -

पूर्णिया :बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सेवा को अपना धर्म बताया और कहा कि राज्य में वर्ष 2005 में उनकी सरकार बनने के बाद से वह लगातार जनता की सेवा कर रहे हैं।
श्री कुमार ने समाज सुधार अभियान के क्रम में शनिवार को यहां के ऐतिहासिक इंदिरा गांधी स्टेडियम में आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा, “मैं वर्ष 2005 से ही आपकी सेवा कर रहा हूं। सेवा करना ही मेरा धर्म है, चाहे आप किसी को वोट दें लेकिन हमने जो काम किया है उसे भी नहीं भूले।” उन्होंने कहा कि वह दिन याद करें जब शाम होते ही लोग घर से बाहर नहीं निकलते थे। लेकिन, उनकी सरकार ने बिहार में कानून का राज स्थापित किया। पोशाक और साइकिल योजना का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि पहले पांचवीं से आगे बेटियां नहीं पढ़ती थी लेकिन इन योजनाओं ने बच्चियों को आगे बढ़ाया।
मुख्यमंत्री ने कहा कि पंचायत से लेकर नगर निकाय में महिलाओं को पचास फीसदी और बिहार पुलिस में 35 प्रतिशत आरक्षण दिया गया। आज बिहार में जितनी महिला पुलिस में है उतनी किसी राज्य में नहीं है। उन्होंने कहा कि समाज में महिला और पुरुष बराबर हैं दिनों एक दूसरे के पूरक हैं इसलिए अब समाज से दहेज प्रथा का कलंक भी खत्म करें। उन्होंने जीविका दीदीयों को संबोधित करते हुए कहा कि जिस शादी के कार्ड में बिना दहेज की शादी लिखा हो उसी में शरीक हों, अन्य शादियों का बहिष्कार करें।

Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

- Sponsored -

Comments are closed.