Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

साहब कर रहे खूब कमाल, बालू के पैसे से हो रहे मालामाल

- Sponsored -

पाकुड़: पाकुड़ जिले में बालू परिवहन का कारोबार न केवल ट्रैक्टर मालिको बल्कि कुछ अधिकारियो की कमाई का भी जरीया बन गया है। प्रतिदिन सैकड़ो ट्रैक्टरों से पाकुड़ शहरी एवं ग्रामीण इलाको में ले जाये जा रहे बालू से अपने एक साहब खुब कमाई कर रहे है और इसलिए न केवल ट्रैक्टरो के मालिक और चालक बल्कि शहरी लोग भी यह चर्चा कर रहे है कि साहब कर रहे खुब कमाल बालू के पैसे से हो रहे मालामाल।

अपने यह साहब जब पाकुड़ पहुंचे थे तो काफी शांत और गंभीर रहा करते थे लेकिन जब से इन्होने बालू को अतिरिक्त कमाई का जरीया बनाया है इनकी हनक और खनक भी पहले से ज्यादा बढ़ गयी है। बालू परिवहन में शामिल ट्रैक्टरों से न केवल ग्रामीण इलाके बल्कि शहर के कुछ चैराहे पर भी अपने इस साहब के नाम पर वसुली हो रही है।

- Sponsored -

प्रति ट्रैक्टर सौ से दो सौ रुपए दिनभर वसुली की जा रही और शाम होते ही राशि अपने साहब के चैखट तक पहुंच जा रहा। जिस साहब की चर्चा बालू परिवहन को कमाई का जरीया बनाने को लेकर हो रही है वे कुछ दिनों पूर्व अपने एक मातहत की करूतुतो के कारण भी चर्चा का विषय बन गये थे। मताहत के खिलाफ तो कार्रवाई हो गयी लेकिन अपने ये साहब इसलिए बच गये कि इनकी हनक और खनक जो काम आ गयी। जिला मुख्यालय में शिवलयो की तरह कुछ ऐसे स्थान है जहां ट्रैक्टर से बालू लाने वाले चालक इस तरह पैसे रख रहे है जैसे मंदिरो में देवी देवताओ पर भक्त फुल और प्रसाद चढ़ाया करते है और यही बालू का पैसा अपने साहब के यहां शाम होते होते पहुंच जा रहा है।

लोग इस मामले में जैसी मुह वैसी बात भीे कर रहे है। चर्चा तो यह भी है कि अपने ये साहब महेशपुर के बांसलोई नदी से पाकुड़ ग्रामीण और शहरी इलाके में ट्रैक्टरो से लाये जाने वाले बालू से प्रतिदिन हजारो की कमाई कर रहे है। हालांकि अपने इस साहब ने बालू के हो रहे परिवहन में राजनीतिक दलो से जुड़े ट्रैक्टर मालिको को छुट देने का भी आॅफर छोड़ रखा है इसलिए इनकी शिकायत बड़े साहब के यहां कोई नही कर रहा और अपने ये साहब कंबल ओढ़कर घी पीने का काम बदस्तुर जारी रखा है।

 

Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

- Sponsored -

Comments are closed.