Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

रौनक ने षड्यंत्र रच करवाई हत्या, पुलिस को गुमराह करने के लिए खुद को भी मारी थी गोली

- Sponsored -

नीरज तिवारी हत्याकांड की गुत्थी पुलिस ने सुलझाई
धनबाद। पिछले 2 सितंबर को कतरास के राजस्थानी धर्मशाला के समीप नीरज तिवारी की हुई हत्या की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली है। मामले में पुलिस ने कुल 7 लोगों को गोरफ्तार किया है। गिरफ्तार अपराधियों के पास 2 देसी कट्टा, 1 पिस्टल, 8 एमएम के तीन जिंदा कारतूस, मोबाइल फोन, हत्या में प्रयुक्त मोटरसाइकिल संख्या खऌ10इे/ 8125 सफेद रंग की स्कोर्पियो संख्या खऌ10इख/3987 बरामद किया गया है। इस बाबत सोमवार को एसएसपी संजीव कुमार ने पुलिस मुख्यालय में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया कि नीरज की हत्या पुरानी रंजिश के कारण हुई और हत्या का पूरा षड्यंत्र रौनक गुप्ता ने रचा था। मृतक नीरज तिवारी और गिरफ्तार सभी आरोपी पहले से ही आपराधिक प्रवर्ति के थे और सभी कई बार जेल जा चुके हैं। उन्होंने बताया कि रौनक और निरज के बीच मे पहले कई बार टकराव भी हो चुका था यहां तक दोनों जेल में भी आपस मे टकराये थे।
इनकी हुई गिरफ्तारी:
रौनक गुप्ता, कतरास, रोहित गुप्ता, कतरास,दिलीप यादव, कतरास,गणेश गुप्ता, कतरास,सुजल गुप्ता, कतरास,प्रिंस स्वर्णकार, कतरास, प्रियरंजन, जेसी मल्लिक रोड धनबाद
क्या है पूरा मामला:
बीते 2 सितंबर की रात पौने नौ बजे कतरास के राजस्थानी धर्मशाला के समीप यादव चाय दुकान के पास नीरज तिवारी, रौनक गुप्ता और रोहित गुप्ता आए। रोहित ने पान मसाला व सिगरेट लिया। दुकानदार मनीष ने सिगरेट और पान मसाला देने के बाद दुकान बंद कर घर चला गया। थोड़ी देर के बाद आशीष रंजन और अमर रवानी मौके पर आया और नीरज तिवारी को गोली मार दी। इसके बाद रौनक ने अपने से खुद को गोली मारी। आशीष ने ही रोहित को भी हाथ और पैर में गोली मारी थी ताकि हत्या का शक पुलिस को उनपर न हो।

Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

Leave a Reply