Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

RJD बदलेगा तौर-तरीका, जानिए तेजस्वी ने अपने नेताओं-कार्यकर्ताओं से क्या कहा

- Sponsored -

पटना-राजद की समीक्षा बैठक में तेजस्वी यादव ने दो टूक में कहा कि इस बार चुनाव में पार्टी को सभी वर्गों का वोट मिला है। यह कहना गलत है कि हमे फलां ने वोट नहीं दिया। उन्होंने हार का कारण भितरघात बताया। कहा कि चुनाव में सामने के दुश्मन से नहीं, बल्कि आस्तीन के सांप से हारे हैं। सामने वाले से लड़ना आसान जबकि भितरघात करने वाले से लड़ना बहुत मुश्किल होता है।

कई बार जिन्हें टिकट नही मिलता वे चाहते हैं कि ये उम्मीदवार हार जाएगा तो अलगी बार मेरे लिए राह आसान हो जाएगा और हम जीत जाएंगे। तेजस्वी ने कहा कि हर कोई चुनाव लड़ना चाहता है, यह स्वाभाविक भी है। लेकिन एक सीट पर एक ही उम्मीदवार चुनाव लड़ सकता है। हमने पूरे समीकरण के साथ, फीडबैक लेकर उम्मीदवार उतारे। लेकिन पार्टी जब तय कर देती है तो भितरघात नहीं करना चाहिए।

इससे किसी को फायदा नहीं होने वाला। यदि सरकार बनती तो विधायक बनाता, मंत्री बनाता, कार्यकर्ता हैं तो 20 सूत्री में जाता, समिति बोर्ड में जाता। इससे पार्टी को नुकसान हुआ है। चुनाव में हमारे साथ लेफ्ट और कांग्रेस भी थी। कुछ सीटें गठबंधन में इधर-उधर हो जाती हैं। सबकी कोशिश होती है ज्यादा से ज्यादा सीटें जीते। कुछ सीटों पर हम बेहतर कर सकते थे, वहां हमें निराशा हाथ लगी। हम मुद्दों पर चुनाव लड़े, हमें जनता ने अपना समर्थन दिया।

- Sponsored -

तेजस्वी ने कहा कि पार्टी सुप्रीमोलालू जी की गैरमौजूदगी में हमने चुनाव लड़ा। किसी को उम्मीद नहीं थी मजबूती से चुनाव लड़ेंगे। चाहे जितना भी छल-कपट हुआ हो, हमने बेहतर प्रदर्शन किया। तेजस्वी ने कहा कि अब पार्टी को चलाने का तौर तरीका बदलेगा। पिछली दफे संगठन में उन्होंने फेर-बदल किा था, संगठन में आरक्षण दिया गया था। अब उसमें भी समीक्षा के बाद भारी फेरबदल की जरूरत होगी।

संगठन को लेकर पार्टी के नेता कार्यकर्ता अपना माइंड क्लीयर कर लें। जिन्हें चुनाव लड़ना है वे पार्टी में पदाधिकारी नहीं बने। चुनाव को लेकर उन्होंने सब की रिपोर्ट तैयार की थी। उस रिपोर्ट को लालू जी के सामने रख दिया गया है। लालू जी ने मुझे पूरी छूट दी है कि जो करना है कीजिए। उन्होंन यह भी कह दिया है कि जिन लोगों ने भितरघात किया है उनपर एक्शन लिया जाए। बता दें कि तेजस्वी ने विस चुनाव में पार्टी के प्रदर्शन को लेकर सोमवार को समीक्षा बैठक बुलाई थी।

इस दौरान बैठक में मौजूद पार्टी नेताओं के साथ अन्य कई मुद्दे पर चर्चा की। बैठक की अध्यक्षता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह ने किया। जिसमें पार्टी के सभी जीते और हारे हुए कैंडिडेट के अलावे सभी जिला के जिला अध्यक्ष व महासचिव ने हिस्सा लिया। सभी नेताओं-कार्यकतार्ओं से लिखित रूप में भी सलाह मांगी गई है। बैठक में 23 दिसम्बर को बड़े पैमाने पर किसान नेता चौधरी चरण सिंह की जयंती मनाने का भी फैसला हुआ। इसके अलावे सभी जिला मुख्यालयों में किसान गोष्ठी का आयोजन करने का निर्णय लिया गया।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored