Live 7 Bharat
जनता की आवाज

चंद्रबाबू नायडू को बड़ी राहत, हाईकोर्ट ने दी अंतरिम जमानत

चंद्रबाबू नायडू कौशल विकास घोटाला मामले में जेल में हैं बंद

- Sponsored -

चंद्रबाबू नायडू के लिए मंगलवार का दिन राहत लेकर आया. कौशल विकास घोटाला मामले में पिछले 52 दिनों से राजमुंदरी जेल में बंद चंद्रबाबू नायडू को हाई कोर्ट ने अंतरिम जमानत दे दी. तेलुगू देशम पार्टी प्रमुख एवं पूर्व मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू को मंगलवार को चिकित्सा आधार पर राहत दी गई . अदालत ने उन्हे 28 नवम्बर तक के लिए अंतरिम जमानत दी है.  कोर्ट के इस फैसले से तेलगु देशम पार्टी के कार्यकर्ताओं में भी काफी उत्साह है.

- Sponsored -

चंद्रबाबू नायडू को जमानत देते वक्त अदालत ने कहा

न्यायमूर्ति तल्लाप्रगदा मल्लिकार्जुन राव ने चिकित्सा आधार पर श्री नायडू को चार सप्ताह की अंतरिम जमानत देने का आदेश दिया. न्यायालय ने अपने आदेश में कहा, “याचिकाकर्ता एरीथेमेटस पैपुलर रैश से पीड़ित है. उनकी चिकित्सकीय जांच करने के बाद डॉक्टरों की टीम की ओर से गत 14 अक्टूबर को मेडिकल रिपोर्ट प्रस्तुत की गई. इसके मुताबिक याचिकाकर्ता 15 वर्षोँ से मधुमेह मेलिटस से पीड़ित हैं, जिसका लगातार इलाज चल रहा है. यह भी पता चलता है कि हाइपरट्रॉफिक ऑब्सट्रक्टिव कार्डियोमायोपैथी मामले में उनका हृदय संबंधी इलाज किया गया था. इसके अलावा उनकी बायीं आंख के मोतियाबिंद का ऑपरेशन हुआ और डॉक्टर ने दाहिनी आंख का भी ऑपरेशन करने की सलाह दी है.”
अदालत ने कहा कि याचिकाकर्ता की चिकित्सकीय रिपोर्ट के मुताबिक स्वास्थ्य स्थितियों की दर्दनाक और तनावपूर्ण प्रकृति को ध्यान में रखते हुए यह न्यायालय उन्हें आवश्यक चिकित्सा परीक्षण और उपचार के लिए अंतरिम जमानत देने के पक्ष में है. कोर्ट ने कहा कि चिकित्सकीय रिपोर्ट स्पष्ट रूप से इंगित करती है कि याचिकाकर्ता को अपनी दाहिनी आंख पर मोतियाबिंद सर्जरी की आवश्यकता है. इसलिए, उसे उसी अस्पताल में इलाज कराने की अनुमति देना एक उचित प्रस्ताव है जहां उसकी बायीं आंख की सर्जरी हुई थी.

चंद्रबाबू नायडू के जेल से निकलते वक्त भव्य स्वागत की तैयारी

न्यायालय ने चंद्रबाबू नायडू की जमानत मंजूर करते हुए एक लाख  रुपये का जमानत बांड भरने, अस्पताल में चिकित्सा उपचार का विवरण राजमुंदरी केंद्रीय जेल के अधीक्षक को एक सीलबंद कवर में उपलब्ध कराने के निर्देश दिये हैं.
इस बीच तेलुगू देशम पार्टी कार्यकर्ता राज्य भर में सड़कों पर उतर आए और पटाखे चलाकर अपने नेता को जमानत मिलने का जश्न मनाया. पार्टी नेताओं ने संवाददाताओं को बताया कि श्री नायडू को एक विशाल रैली की शक्ल में राजमुंदरी केंद्रीय जेल से विजयवाड़ा ले जाया जाएगा. उन्होंने कहा कि श्री नायडू कल या परसों भगवान वेंकटेश्वर की पूजा करने के लिए तिरुमाला जाएंगे और वहां से हैदराबाद जायेंगे. वह हैदराबाद के एलवी प्रसाद नेत्र अस्पताल में अपनी दाहिनी आंख का मोतियाबिंद ऑपरेशन कराएंगे. अधिवक्ता सिद्धार्थ लूथरा और दम्मलपति श्रीनिवास ने श्री नायडू की ओर से दलीलें पेश कीं, जबकि अतिरिक्त महाधिवक्ता पी सुधाकर रेड्डी ने राज्य की ओर से दलीलें दीं.

चंद्रबाबू नायडू पर क्या है आरोप

पूर्व मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू पर कौशल विकास निगम में 371 करोड़ रुपये के घोटाले का आरोप है.
राज्य की जगनमोहन रेड्डी की सरकार ने मामले की जांच सीआईडी को सौंपी थी जिसके बाद नायडू को गिरफ्तार कर लिया गया था. मामला 2015 का है. सीआईडी की जांच के मुताबिक राज्य के लोगों को अलग-अलग कौशल में प्रशिक्षित करने के लिए सीमेंस कंपनी से डील हुई थी. 3300 करोड़ रुपये का ये प्रोजेक्ट था. इसमें से 10 फीसद राज्य सरकार और 90 फीसद बिस्सा सीमेंस को लगाना था. परन्तु लीमेंस ने अपना हिस्सा नहीं दिया और राज्य सरकार के फंड का इस्तेमाल किया. आरोप है कि पैसे का एक हिस्सा कई शेल कंपनियों को ट्रांसफर किया गया और आखिरकार चंद्रबाबू नायडू ने इसका लाभ उठाया.

 

Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

- Sponsored -

Comments are closed.

Breaking News: