Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

सपा में सीटों के बंटवारे को लेकर सहयोगी दलों के साथ मंथन जारी

- Sponsored -

लखनऊ:उत्तर प्रदेश में आगामी विधानसभा चुनाव के मद्देनजर समाजवादी पार्टी (सपा) के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने बुधवार को गठबंधन के सहयोगी दलों के साथ सीटों के बंटवारे को लेकर अंतिम दौर की बातचीत शुरु कर दी है।
सूत्रों के अनुसार यहां स्थित जनेश्वर मिश्र ट्रस्ट में चल रही इस बैठक में सुभासपा के ओ पी राजभर, रालोद की ओर से डा मसूद अहमद और प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (प्रसपा) के अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव तथा उनके पुत्र आदित्य यादव सहित अन्य दलों के नेताओं ने हिस्सा लिया।
इस बीच बैठक में राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एपसीपी)को गठबंधन के तहत एक सीट देने का फैसला किया गया। सपा की ओर से एनसीपी के प्रदेश अध्यक्ष उमाशंकर यादव के साथ अखिलेश की तस्वीर सोशल मीडिया पर साझा करते हुये जानकारी दी गयी कि एनसीपी को बुलंदशहर की अनूपशहर सीट दी गयी है। सपा की ओर से किये गये एक ट्वीट में कहा गया है कि एनसीपी के उत्तर प्रदेश अध्यक्ष उमाशंकर यादव ने अखिलेश यादव से मुलाकात कर चुनावी चर्चा की। इसमें कहा गया है कि एनसीपी के नेता केके शर्मा, बुलंदशहर की अनूपशहर विधानसभा सीट से सपा-एनसीपी गठबंधन के संयुक्त प्रत्याशी होंगे।
इस दौरान अखिलेश ने भी बैठक में शामिल हुये विभिन्न दलों के नेताओं के साथ अपनी तस्वीर साझा करते हुये कहा, ‘‘सपा के सभी सहयोगी दलों के शीर्ष नेतृत्व के साथ, आज हुई उत्तर प्रदेश के विकास और भविष्य की बात।’’ सूत्रों के अनुसार बैठक में प्रसपा को छह सीट देने पर सहमति बनी है। बैठक में कुछ देर हिस्सा लेकर शिवपाल रवाना हो गये। हालांकि उन्होंने सीटों के बंटवारे पर कोई प्रतिक्रिया व्यक्त नहीं की। समझा जाता है कि प्रसपा को गुन्नौर, जसवंतनगर, भोजपुर, जसराना, मुबारकपुर और गाजीपुर सीटें दी गई हैं।
प्राप्त जानकारी के अनुसार तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) को भी सपा गठबंधन में एक सीट दी गयी है। इसके तहत मिर्जापुर जिले की मड़हिान सीट पर टीएमसी के ललितेश पति त्रिपाठी चुनाव लड़ेंगे।
जिन दलों के साथ सीटों को लेकर पेंच फंसता दिख रहा है उनमें रालोद और सुभासपा शामिल हैं। सूत्रों के अनुसार 403 सदस्यीय विधानसभा में सपा ने 103 सीटें गठबंधन में शामिल दलों के लिये छोड़ने की पहल की है। रालोद के अध्यक्ष जयंत चौधरी के साथ तीन दौर की बातचीत के बाद 32 सीटें रालोद को देने पर सहमति बन गयी है। पेंच उन छह सीटों पर फंस रहा है, उन पर सपा के उम्मीदवार रालोद के चुनाव चिन्ह पर उतारे जाने हैं।
इस बीच राजभर भी सुभासपा को कम से कम चार दर्जन सीटें देने पर कायम हैं। समझा जाता है कि सुभासपा सहित अन्य सहयोगी दलों के साथ सीटों के तालमेल को लेकर अखिलेश की अध्यक्षता में बैठक अभी जारी है। सूत्रों ने बताया कि पहले चरण के मतदान वाली सीटों पर उम्मीदवारों के नाम तय होने पर सपा गठबंधन के प्रत्याशियों की सूची जल्द ही जारी कर दी जायेगी।

Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

- Sponsored -

Comments are closed.