Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

यूपी के नौ जिलों में उत्साह,चार घंटे में पड़े 23.03 फीसदी वोट

- Sponsored -

लखनऊ :उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण में नौ जिलों की 55 सीटों पर सोमवार को शुरु हुये मतदान में लोगों के बीच खासा उत्साह देखने को मिल रहा है। अधिसंख्य स्थानो पर खिली धूप के बीच मतदान के पहले चार घंटों में औसतन 23.03 फीसदी मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया।
केंद्रीय मंत्री मुख़्तार अब्बास नकवी ने रामपुर में शंकरपुर आवास के पास दनियापुर में कतार में लग कर मतदान किया वहीं शाहजहांपुर में योगी सरकार में मंत्री जितिन प्रसाद ने अपनी पत्नी के साथ सुदामा प्रसाद इंटर कॉलेज स्थित पोंिलग बूथ पर वोट डाला जबकि कैबिनेट मिनिस्टर सुरेश कुमार खन्ना ने भी अपने मताधिकार का प्रयोग किया। नकवी ने मतदान के बाद कहा कि लोकतंत्र पर्व की यही विशेषता है कि इसमें सभी लोग बढ़, चढ़कर, जोश ओ जुनून के साथ हिस्सा लेते हैं । जितिन प्रसाद ने कहा कि शाहजहाँपुर बीजेपी का गढ़ रहा है। प्रदेश में एक तरफा मतदान बीजेपी के लिए हो रहा है। जिले की सभी छह सीटों पर बीजेपी जीत रही है। उनके साथ साथ हम 300 से अधिक सीटे जीतकर दोबारा सरकार बनाने जा रहे है।
निर्वाचन आयोग के अनुसार सुबह 11 बजे तक मुरादाबाद में सबसे ज्यादा 25.99 फीसदी लोग मतदान के लिये घरों से बाहर निकले जबकि बरेली में सबसे कम 20.99 फीसदी मतदान हुआ। इसके अलावा सहारनपुर में 25.26 प्रतिशत, बिजनौर में 24.34 प्रतिशत ,अमरोहा में 22.99 प्रतिशत,संभल 22.95 प्रतिशत,रामपुर 21.76 प्रतिशत,बदायूं में 21.87 और शाहजहांपुर 21.58 फीसदी लोगों ने कतारबद्ध होकर वोट डाले।
उन्होने बताया कि सभी नौ जिलों में मतदान को लेकर लोगों में भारी उत्साह देखने को मिल रहा है। इस दौरान कहीं से भी किसी अप्रिय घटना की सूचना नहीं है। इलेक्ट्रानिक वोंिटग मशीन में तकनीकी खराबी के चलते कुछ स्थानो पर मतदान शुरू होने में देरी हुयी। सभी खराब मशीनों को ठीक कर लिया गया है और मतदान सुचारू रूप से जारी है। मतदान निर्धारित समय सुबह सात बजे शुरू हुआ जो शाम छह बजे तक चलेगा। इस अवधि में कतार में खड़े लोगों को छह बजे के बाद भी मतदान का अवसर दिया जायेगा।
रामपुर से प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार होमगार्ड महिला कर्मी का आॅपरेशन होने के बावजूद पुलिस प्रशासन ने मतदान केंद्र पर ड्यूटी लगाई। महिला चलने में भी असमर्थ है और महिला मतदान केंद्र पर व्हील चेयर पर पहुंची। व्हीलचेयर पर पहुंची महिला के साथ अन्य महिला सहकर्मियों ने भी अपनी परेशानी जाहिर की।
उधर बरेली मे बूथ संख्या 426,429 पर ईवीएम मशीन की खराबी से करीब एक घंटे बाद मतदान शुरू हो सका। इस दौरान मतदान केंद्र पर लगी मतदाताओं की लंबी लाइन लग गयी। सहारनपुर के नकुड़ विधानसभा में बूथ संख्या 75 पर ईवीएम मशीन में खराबी आयी जिस पर सपा नेता धर्म ंिसह ने जानबूझ कर गड़बडी करने के आरोप लगाये। अमरोहा जिले में धनौरा विधानसभा के बूथ संख्या 369 में ईवीएम मशीन खराब होने से मतदान प्रभावित हुआ।
इस दौरान 12,544 मतदान केन्द्रों के 23,404 मतदेय स्थलों पर सुरक्षा के चाकचौबंद इंतजाम है। मतदान स्थलों पर कोविड प्रोटोकाल का पालन किया जा रहा है। सुरक्षा की दृष्टि से संवेदनशील विधान सभा क्षेत्रों के रूप में चिन्हित नगीना, धामपुर, बिजनौर, असमोली, संभल, देवबन्द, रामपुर मनिहारन एवं गंगोह के 4917 मतदान स्थलों को ‘अति संवेदनशील’ श्रेणी में रखते हुये सुरक्षा के अतिरिक्त इंतजाम किये गये हैं।
सभी नौ जिलों में मौसम साफ रहने और धूप खिलने से मतदान प्रतिशत में बढ़ोत्तरी के आसार हैं। वर्ष 2017 में विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण में 11 जिलों की 67 सीटों पर करीब 66.5 फीसदी मतदान हुआ था।
इस चरण में नौ जिलों के 2.02 करोड़ मतदाता 69 महिला उम्मीदवारों समेत कुल 586 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला ईवीएम में कैद कर देंगे। मतदान वाली 55 सीटों में से लगभग 25 सीटों पर मुस्लिम मतदाता और 20 से अधिक सीटों पर दलित मतदाता हार जीत का फैसला करते हैं। इस वजह से इन जिलों की मुस्लिम और दलित बहुल सीटों वाले इलाके समाजवादी पार्टी (सपा) और बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के गढ़ माने जाते हैं।
पिछले विधानसभा चुनाव में मोदी लहर के चलते भाजपा ने 55 में से 38 सीटें जीती थीं जबकि सपा को 15 और उसके सहयोगी दल कांग्रेस को दो सीटें मिली थीं। पिछले चुनाव में इस इलाके से बसपा का खाता भी नहीं खुल सका।
दूसरे चरण के चुनाव मैदान में योगी सरकार के तीन मंत्री और सपा के कद्दावर नेता आजम खान सहित अन्य वरिष्ठ नेता किस्मत आजमा रहे हैं। इनमें मंत्री सुरेश खन्ना शाहजहांपुर सीट पर, गुलाबो देवी संभल जिले की चंदौसी सीट पर और बलदेव ंिसह औलख रामपुर जिले बिलासपुर सीट से चुनाव मैदान में हैं। जबकि पूर्व मंत्री धर्मपाल ंिसह आंवला सीट पर भाजपा के उम्मीदवार हैं।
इनके अलावा विरोधी खेमे में आजम खान रामपुर सदर सीट पर, उनके बेटे अब्दुल्ला आजम खान स्वार सीट पर, पूर्व मंत्री धर्मपाल ंिसह सैनी सहारनपुर की नकुड़ सीट से और महबूब अली अमरोहा सीट पर मैदान में डटे हैं।
गौरतलब है कि पहले चरण में पश्चिमी उत्तर प्रदेश के 11 जिलों की 58 विधानसभा सीटों पर 10 फरवरी को शांतिपूर्ण तरीके से मतदान संपन्न हो चुका है। इस चरण के मतदान में पिछले चुनाव की तुलना में तीन प्रतिशत कम यानि 60.17 प्रतिशत मतदान हुआ था। अब सभी की निगाहें दूसरे चरण के मतदान पर टिकी हैं।

Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

- Sponsored -

Comments are closed.