Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

झारखंड सरकार के वित्त मंत्री रामेश्वर उरांव शिक्षकों को अपमानित कर रहे हैं: अनिल उरांव

- Sponsored -

लोहरदगा: झारखंड के सरकारी विद्यालयों से पढ़ लिखकर देश में अनेकों आईएएस, आईपीएस, डॉक्टर एवं इंजीनियर अपनी सेवा दे रहे हैं। रामेश्वर उरांव भी झारखंड के सरकारी विद्यालय से पढ़कर ही आईपीएस, सांसद, और वित्त मंत्री बने हैं। उक्त बातें भाजपा के लोहरदगा जिला मंत्री अनिल उरांव ने बयान जारी कर कही। उन्होंने कहा कि मंत्री का यह बयान कि सरकारी विद्यालयों के शिक्षकों के शिक्षा के प्रति अच्छे कार्य करने की दिलचस्पी नहीं है, शिक्षक सिर्फ तनख्वाह लेते हैं। भाजपा नेता अनिल उरांव ने इस बयान का विरोध करते हुए कहा कि बयान से पता चलता है कि वित्त मंत्री रामेश्वर उरांव सरकारी विद्यालयों के शिक्षकों के प्रति क्या सोच रखते हैं। उन्होंने कहा कि शिक्षकों का अपमान बीजेपी कभी बर्दाश्त नहीं करेगी। एक सरकारी विद्यालय के शिक्षकों को पढ़ाने के अलावा अनेकों सरकारी कार्य करने पड़ते हैं। बावजूद इसके सरकारी विद्यालयों का रिजल्ट बेहतर होता है। सरकारी विद्यालयों में गुणवत्तापूर्ण शिक्षा नहीं है, निजी स्कूल नहीं होते तो झारखंड  गुणवत्तापूर्ण शिक्षा में पिछड़ जाते, मंत्री जी का ऐसे बयानों से कोई भी शिक्षक नहीं बनना चाहेगा। मंत्री जी झारखंड के शिक्षा स्तर को गिराने की कोशिश कर रहे हैं। भारतीय जनता पार्टी झारखंड के सभी शिक्षकों का सम्मान करती है एवं उसके मान सम्मान के लिए हमेशा उसके साथ है। जिस सरकार में शिक्षा मंत्री मैट्रिक पास हो, तो ऐसे सरकार से शिक्षा के क्षेत्र में क्या उम्मीद किया जा सकता है। आने वाले दिनों में शिक्षक संघ रामेश्वर उरांव एवं कांग्रेस पार्टी को इसका जवाब देगी।
Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

Leave a Reply