Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

डुप्लीकेट सैनेटरी पाइप बेच रहे तीन दुकानों पर छापा, लाखों की पाइप जब्त

- Sponsored -

कोडरमा। डुप्लीकेट सैनेटरी पाइप की बिक्री को लेकर सोमवार को दिल्ली से आई एक टीम ने तिलैया पुलिस के सहयोग से थाना क्षेत्र के तीन अलग-अलग इलाकों में छापेमारी कर दो हार्डवेयर दुकान से एवं एक हार्डवेयर गोदाम से लाखों रुपए के पाइप को जब्त किया है। छापेमारी टीम का नेतृत्व कर रहे दिल्ली हाईकोर्ट के अधिवक्ता डॉ ऋषि कुलश्रेष्ठ ने बताया कि सेनेटरी पाइप निर्माता कंपनी प्रिंस पाइप प्राइवेट लिमिटेड के वह लीगल एडवाइजर है। प्रिंस पाइप प्राइवेट लिमिटेड को कोडरमा जिले के तिलैया थाना क्षेत्र अंतर्गत विभिन्न इलाकों में उनकी कंपनी के नाम पर डुप्लीकेट पाइप की बिक्री करने की सूचना मिली थी। जिसके बाद कंपनी के स्तर पूरी तरह से छानबीन कराई गई। मामला सही पाए जाने पर प्रिंस पाइप प्राइवेट लिमिटेड ने उन्हें अधिकृत करते हुए कोडरमा भेज कर मामले पर कानूनी कार्रवाई करने का निर्देश दिया। इसके बाद अधिवक्ता डॉ ऋषि कुलश्रेष्ठ अपने पांच अन्य सहयोगियों के साथ कोडरमा पहुंचे। इसके बाद कोडरमा पुलिस अधीक्षक कुमार गौरव से मिलकर पूरे मामले से अवगत कराने के बाद उन्हें पुलिस के द्वारा सहयोग देने की मांग की गई। इसके अधिवक्ता डॉ कुलश्रेष्ठ एवं तिलैया थाना के एसआई आनंद मोहन कुमार दल बल के साथ सबसे पहले तिलैया थाना क्षेत्र के टेलीफोन एक्सचेंज के सामने आर वाई कांप्लेक्स स्थित महावीर हार्डवेयर एंड सेनेटरी दुकान पहुँची। जहां टीम ने प्रिंस कंपनी के दर्जनों डुप्लीकेट सेनेटरी पाइप बरामद किया। इसके बाद टीम पुलिस के साथ गाँधी स्कूल रोड इंडियन गैस एजेंसी के बगल में स्थित एक दो मंजिला घर पर पहुंचे जहां मकान के निचले हिस्से में प्रिंस कंपनी के सैकड़ों डुप्लीकेट सेनेटरी पाइप बरामद किए गए। जिसे टीम ने जब्त कर लिया। इसके बाद टीम बेलाटांड दुर्गा मंडप के समीप स्थित जय मां अंबे हार्डवेयर पहुंची। यहां से टीम ने 16 पीस प्रिंस कंपनी के डुप्लीकेट सेनेटरी पाइप बरामद किया। जिसे जब्त कर लिया गया। प्रिंस पाइप प्राइवेट लिमिटेड कंपनी का प्रतिनिधित्व कर रहे अधिवक्ता डॉ ऋषि कुलश्रेष्ठ ने बताया कि मामले को लेकर तिलैया थाना में कॉपीराइट एक्ट का उल्लंघन और धोखाधड़ी के मामले में प्राथमिकी दर्ज कराई जा रही है। मामले का अनुसंधान के दौरान पुलिस इस बात का पता लगा पाएगी कि आखिर नकली पाइप कहां पर तैयार किया जा रहा था और इस काम में और कौन-कौन लोग जुड़े हुए हैं।
Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

- Sponsored -

Comments are closed.