Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

‘अग्निपथ’ के विरोध में आज बिहार बंद, कांग्रेस करेगी सत्याग्रह,यूपी में 260 गिरफ्तार

- Sponsored -

नई दिल्ली अग्निपथ योजना को लेकर देश में बवाल मचा हुआ है। एक दर्जन से ज्यादा राज्य हिंसक प्रदर्शन की चपेट में हैं। ट्रेनों को फूंका जा रहा है। छात्र पिछले तीन दिन से धरना प्रदर्शन कर रहे हैं। इस बीच योजना के विरोध में छात्र संगठनों ने 24 घंटे के बिहार बंद का आह्वान किया है। यह बंद आॅल इंडिया स्टूडेंट्स एसोसिएशन की ओर से बुलाया गया है। अग्निपथ योजना को लेकर हो रहे विरोध प्रदर्शन को देखते हुए पटना के डाक बंगाल क्रॉसिंग पर कड़ी सुरक्षा की गई है। यहां अतिरिक्त सुरक्षा बलों को तैनात किया गया है। सिटी एसपी अंबरीश राहुल ने बताया कि कानून-व्यवस्था की स्थिति से निपटने के लिए पुलिस तैयार है। छात्रों को शांतिपूर्ण ढंग से प्रदर्शन की अनुमति है, अगर वे हिंसा करेंगे तो हम कार्रवाई करेंगे। अग्निपथ योजना का विरोध कर रहे छात्रों के समर्थन में कांग्रेस रविवार को सत्याग्रह करेगी। जानकारी के मुताबिक, इस दौरान कांग्रेस के सभी सांसद, कांग्रेस कमेटी के सदस्य व पदाधिकारी भी शामिल होंगे।अग्निपथ योजना के विरोध में बुलाए गए बिहार बंद के दौरान भी आगजनी की सूचना है। जानकारी के मुताबिक, प्रदर्शनकारियों ने जहानाबाद में टेहटा ओपी के बाहर खड़े ट्रक और बस में आग लगा दी। सूचना मिलते ही डीएम और एसपी मौके पर पहुंचे हैं।
छात्र संगठनों की ओर से बुलाए गए बिहार बंद और तीन दिन से हो रहे हिंसक प्रदर्शन को देखते हुए नीतीश सरकार ने राज्य के 12 जिलों में इंटरनेट बंद करने का फैसला किया है। जिन जिलों में इंटरनेट सुविधा पर रोक लगाई गई है, उनमें रोहतास, लखीसराय, औरंगाबाद, कैमूर, भोजपुर, बक्सर, सारण, समस्तीपुर, बेगूसराय, नवादा, चंपारण और वैशाली शामिल हैं। यह रोक अलग 48 घंटे तक लागू रहेगी।
अग्निपथ योजना के विरोध में छात्र संगठनों द्वारा बुलाए गए बिहार बंद को राजद और जीतनराम मांझी की पार्टी हिंदुस्तान आवाम मोर्चा का समर्थन मिला है। खास बात यह है कि ‘हम’ भाजपा के सहयोगी दलों में से एक है।
शिवसेना नेता संजय राउत ने अग्निपथ योजना पर सरकार पर तंज कसा है। उन्होंने कहा, हमारी सेना को अब तक कभी भी ठेकेदारी पर नहीं रखा गया। ठेकेदारी पर काम करने वाले दूसरे लोग हैं। गुलामों को ठेकेदारी पर रखा जाता है। लेकिन जो अनुशासन बल है, जो देश की रक्षा के लिए है। उसको कोई ठेकेदारी पर नहीं रखता है।
केंद्र सरकार ने मंगलवार को एलान किया कि वह सेना में अग्निपथ स्कीम के तहत चुने गए युवाओं को चार साल पूरे करने के बाद सीएपीएफ और असम राइफल्स जैसे बलों में 10 फीसदी आरक्षण देगा। सरकार की तरफ से यह एलान ऐसे समय में आया है, जब पूरे देश में अग्निपथ स्कीम को लेकर युवा सड़क पर उतरकर प्रदर्शन कर रहे हैं। इसके अलावा सीएपीएफ और असम राइफल्स में निर्धारित ऊपरी आयु सीमा से 3 साल की छूट देने का भी फैसला किया है। अग्निवीर के पहले बैच के लिए, आयु में छूट निर्धारित ऊपरी आयु सीमा से 5 वर्ष के लिए होगी।
अग्निपथ योजना के विरोध में उत्तर प्रदेश में हुए हिंसक प्रदर्शन में अब तक 260 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। इसमें 109 गिरफ्तारियां बलिया में हुई हैं। वहीं चार जिलों में कुल छह मामले दर्ज किए गए हैं।
अग्निपथ योजना के खिलाफ तेलंगाना में हुए प्रदर्शन के दौरान छात्र राकेश की मौत पर मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव ने दुख व्यक्त किया है। राकेश की मौत सिकंदराबाद रेलवे स्टेशन पर प्रदर्शन के दौरान पुलिस फायरिंग में हुई थी। इसके बाद मुख्यमंत्री केसीआर ने राकेश के परिजनों 25 लाख रुपये की अनुग्रह राशि और परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी की घोषणा की है।

Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

- Sponsored -

Comments are closed.