Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

प्रो कबड्डी लीग:‘जीत की गति को बनाए रखना ही हमारा उद्देश्य’

- Sponsored -

बेंगलुरू : 15 अंकों के अंतर से बेंगलुरू बुल्स पर 42-27 के साथ शानदार जीत के दम पर और प्रो कबड्डी लीग के इतिहास में कुल 22 टैकल अंकों के साथ एक रिकॉर्ड बनाते हुए जीएमआर समूह की फ्रेन्चाइसी यूपी योद्धा 12 जनवरी को हरियाणा स्टीलर्स के खिलाफ अपनी जीत का सिलसिला जारी रखने का लक्ष्य लेकर चल रही है। यूपी योद्धा और हरियाणा स्टीलर्स दोनों के पास 20 अंक हैं, योद्धा जहां अंक तालिका में सातवें पायदान पर काबिज़ है वहीं स्टीलर्स उनसे एक पायदान नीचे आठवें स्थान पर हैं। अभी तक की पीकेएल यात्रा में यूपी योद्धा और हरियाणा स्टीलर्स ने अब तक 4 बार एक-दूसरे का सामना किया है, दोनों टीमों ने एक-दूसरे को दो-दो मौकों पर हराया है। हालांकि योद्धाओं के पास इस बात का फायदा है कि, न केवल उन्हें पीकेएल 7 में अपने आखिरी मुकाबले में स्टीलर्स को 37-30 से हराया था बल्कि 9 जनवरी को अपने आखिरी मैच में बेंगलुरू बुल्स पर जोरदार 42-27 जीत के साथ आत्मविश्वास से भरे हुए हैं जबकि स्टीलर्स पर 10 जनवरी को तमिल थलाइवाज के विरुद्ध मिली 26-45 की शिकस्त को भूल कर मैच में वापसी करने का दबाव होगा।
मैच से पहले यूपी योद्धा के मुख्य कोच, जसवीर ंिसह ने कहा, बेंगलुरू बुल्स के खिलाफ हमारी जीत ने निश्चित रूप से हमारी टीम का मनोबल बढ़ाया है। प्रो कबड्डी लीग में हम जिस उच्च स्तर की प्रतिस्पर्धा का सामना करते हैं, उसे देखते हुए अंक तालिका में दूसरे स्थान की टीम के खिलाफ यह जीत हमारे लिए बहुत ज़रूरी थी और इससे हमें आगे बढ़ने की प्रेरणा मिलेगी । मैं पहले भी कह चुका हूँ कि मुझे टीम के प्रदर्शन के साथ कोई समस्या नहीं थी, हालांकि हमें ड्रॉ और करीबी हार वाले मुकाबलों को जीत में बदलने के लिए एक टीम के रूप में खेलना चाहिए था, और हमारा आखिरी गेम इस बात का प्रमाण है । आगे बढ़ते हुए हमारा एकमात्र उद्देश्य अपनी जीत की गति को बनाए रखना है और मुझे विश्वास है कि हमारी टीम हरियाणा स्टीलर्स के खिलाफ विजयी रथ चलाये रखने में कोई कसर नहीं छोड़ेगी।ह्व यूपी योद्धा का फौलादी डिफेंस आखिरी मैच में सबके सामने उभर कर आया था, जबकि टीम के अटैक और डिफेंस विभाग के बीच का तालमेल को देखना उससे भी अधिक सुखद था । श्रीकांत जाधव, सुरेंद्र गिल और मोहम्मद तघी हरियाणा स्टीलर्स के खिलाफ योद्धा की भिड़ंत में रेडर होंगे, जबकि स्टीलर्स को नितेश, सुमित और आशु के ठोस डिफेंस के सामने रेड करने के तरीकों को खोजने के लिए बहुत सारा काम करना होगा।

Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

- Sponsored -

Comments are closed.