Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

हर वर्ग के लिए योजना बनाकर धरातल पर उतार रहे: हेमंत

- Sponsored -

प्रखंड और पंचायतों में भी बनेंगे मॉडल स्कूल, निजी विद्यालयों की तरह मिलेंगी सभी सुविधाएं
राज्य में बड़े पैमाने पर नियुक्तियों की शुरू हो चुकी है प्रक्रिया, बहाली में नहीं होगा विलंब
कल्याणकारी योजनाओं के लाभुकों के बीच 1316.28 लाख रुपए की परिसंपत्तियों का वितरण
रांची/गोड्डा : मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन ने कहा कि सरकार हर वर्ग के कल्याण के लिए योजनाओं को धरातल पर उतारने का काम कर रही है। कोरोना महामारी के समय बच्चों की शिक्षा में बहुत नुकसान हुआ। आॅनलाइन तो कुछ बच्चे पढ़ लिए, लेकिन सरकारी स्कूलों के बच्चों को अत्यधिक कठिनाइयों का सामना करना पड़ा। राज्य सरकार सभी जिलों में मॉडल स्कूल बनाने का कार्य कर रही है, जिनमें प्राइवेट स्कूलों की तरह सारी सुविधाएं उपलब्ध रहेंगी। सरकार इसे आगे ब्लॉक स्तर एवं पंचायत स्तर तक ले जाने की तैयारी कर रही है, ताकि भविष्य में शिक्षा लेने वाले बच्चों को परेशानी नहीं हो।

- Sponsored -

IMG 20220706 WA0542

मुख्यमंत्री बुधवार को गोड्डा कॉलेज परिसर में आयोजित एक कार्यक्रम में सरकार की महत्वपूर्ण योजनाओं का उद्घाटन, शिलान्यास एवं लाभुकों के बीच परिसंपत्तियों के वितरण के बाद सभा को संबोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री ने कहा कि विगत सरकारों में केवल कागजों पर ही विकास कार्य हुए हैं। हमारी सरकार घर-घर जाकर लोगों के हित की योजनाएं बनाकर उन्हें लाभान्वित करने का कार्य कर रही है। कोरोना काल में भी हमारी सरकार ने एक भी व्यक्ति को भूखे मरने नहीं दिया। हर किसी के घर तक खाना उपलब्ध कराया। झारखंड राज्य में कई दुर्गम क्षेत्र हैं। बहुत दूर-दूर के इलाकों में लोग बसे हैं। नदी किनारे, जंगल में, पहाड़ पर कई गांव बसे हैं। उन तक ना सरकार पहुंचती थी ना कोई योजनाएं पहुंचती थी। वर्तमान सरकार उन तक लोकहित की योजनाओं को पहुंचाने का कार्य किया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि 20 साल का रिकॉर्ड तोड़ इस वर्ष सरकार ने धान अधिप्राप्ति किया गया है। हमारी सरकार इसे प्रोसेस कर लोगों तक चावल पहुंचाने के लिए कार्य कर रही है। इसके लिए राज्य सरकार ने राइस मिल को स्वीकृति प्रदान कर दी है। सरकार हर वर्ग, हर क्षेत्र के लोगों के लिए कार्य कर रही है। पहले 1000 दिन से अधिक लगते थे किसी नौकरी की बहाली में । आज सरकार 200 से 250 दिन के अंदर लोगों को नौकरी पर बहाल करने का काम किया है। पारा शिक्षकों के संघर्ष को खत्म कर सभी को उचित सम्मान दिलाने का कार्य किया है। किसान पदाधिकारियों की बहाली कराई। उन्होंने कहा कि गरीबों के जीवन स्तर में कैसे सुधार हो, इसके लिए सरकार लगातार प्रयास कर रही है। सहिया बहनों के लिए उन्होंने कहा कि यह आप की सरकार है। हम सब आपकी हितों की रक्षा के लिए हैं। आपकी बात सरकार तक आ चुकी है। सरकार ने इस पर संज्ञान ले लिया है। जल्द से जल्द आपकी समस्याओं का समाधान होगा। मुख्यमंत्री ने विधायक पोड़ैयाहाट प्रदीप यादव की सौर ऊर्जा का प्लांट गोड्डा में लगाने के सुझाव और विधायक महागामा दीपिका पाण्डे के गोड्डा के लोगों के स्वास्थ्य के लिए ध्यान आकृष्ट करने पर कहा कि हमारे सरकार के संज्ञान में है, इस ओर भी सरकार अवश्य कार्य योजना तैयार कर कार्य करेगी।
5168.80 लाख रुपये लागत की योजनाओं का उद्घाटन
इसके पूर्व मुख्यमंत्री ने 3835.00 लाख रुपये लागत से बने नये समाहरणालय का उद्घाटन किया एवं 5801.90 लाख रुपये की लागत से बनने वाले गोड्डा पुलिस लाइन का शिलान्यास भी किया। कार्यक्रम में मुख्यमंत्री द्वारा कुल 17 योजनाओं का उद्घाटन किया गया, जिसकी कुल लागत 5168.80 लाख रुपये है। वहीं सीएम ने 251 योजनाओं का शिलान्यास किया, जिसकी कुल लागत 15397.84 लाख रुपये है। इसके साथ साथ उन्होंने 1345 लाभुकों के बीच सरकार के विभिन्न जनकल्याणकरी योजनाओं के तहत 1316.28 लाख रुपये राशि के परिस्थितियों का भी वितरण किया। इस मौके पर मंत्री आलमगीर आलम, सांसद विजय हांसदा, विधायक प्रदीप यादव, विधायक दीपिका पाण्डे, प्रभारी मुख्य सचिव अरुण कुमार सिंह, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव राजीव अरुण एक्का, मुख्यमंत्री के सचिव विनय कुमार चौबे, पुलिस महानिदेशक, उपायुक्त गोड्डा, जिला प्रशासन के पदाधिकरी एवं बड़ी संख्या में लाभुक एवं जनता उपस्थित रहे।

Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

- Sponsored -

Comments are closed.