Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

जनजातीय बजट से जुड़े मुद्दे पर विपक्ष का हंगामा, कार्यवाही स्थगित

- Sponsored -

भोपाल: मध्यप्रदेश विधानसभा में आज जनजातीय विभाग के अनुपूरक बजट से संबंधित मुद्दे को उठाते हुए मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस के सदस्यों ने हंगामा किया, जिसके चलते कार्यवाही स्थगित कर दी गयी और प्रश्नकाल नहीं हो सका।

इस मुद्दे पर सदन समवेत होने के बाद भी हंगामा जारी रहने पर अध्यक्ष गिरीश गौतम ने कार्यसूची में शामिल विषयों को क्रमवार पूर्ण किया और कार्यवाही अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दी। इसके साथ ही पांच दिवसीय शीतकालीन सत्र संपन्न हो गया।

सदन की कार्यवाही प्रारंभ होते ही कांग्रेस सदस्य एवं पूर्व मंत्री ओंकार ंिसह मरकाम ने वित्त वर्ष 2021 22 के लिए द्वितीय अनुपूरक बजट में जनजातीय विभाग के लिए काफी कम बजट होने का मामला उठाते हुए अनेक सवाल किए। उनका साथ कांग्रेस के अन्य विधायकों ने भी दिया। अध्यक्ष ने सदस्यों से शांत रहने और प्रश्नकाल चलने देने का अनुरोध किया। लेकिन सदस्य एकसाथ बोलते रहे। सत्तारूढ़ दल भाजपा के सदस्यों ने भी अनेक बातें कही। शोरगुल के चलते अध्यक्ष ने कार्यवाही स्थगित कर दी और फिर प्रश्नकाल नहीं हो सका।

- Sponsored -

सदन समवेत होने पर फिर हंगामे की स्थिति बन गयी। अध्यक्ष ने पुन: सभी से सदन की कार्यवाही बढ़ाने में सहयोग का अनुरोध किया। इसका असर नहीं होता देख अध्यक्ष ने कार्यसूची में शामिल विषयों को क्रमवार लेना प्रारंभ किया। इस दौरान ध्यानाकर्षण सूचनाएं भी कार्यवाही में ली गयीं।

- Sponsored -

मध्यप्रदेश काष्ठ चिरान (विनियमन) संशोधन विधेयक 2021 और ग्वालियर व्यापार मेला प्राधिकरण (संशोधन) विधेयक 2021 को बगैर चर्चा के ही ध्वनिमत से पारित कराने की औपचारिकता पूरी की गयी। कार्यसूची में शामिल अन्य विषयों को भी पूर्ण किया गया और अंत में अध्यक्ष ने सदन की कार्यवाही अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दी और पांच दिवसीय सत्र संपन्न हो गया।

सोमवार को प्रारंभ हुए सत्र के दौरान मुख्य रूप से राज्य के पंचायत चुनावों में अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) को आरक्षण का मुद्दा मुख्य रूप से हावी रहा, जिसके चलते गुुरुवार को मुख्यमंत्री शिवराज ंिसह चौहान की ओर से पेश किए गए संकल्प कि ओबीसी आरक्षण के बगैर पंचायत चुनाव नहीं कराए जाएं, को सर्वसम्मति से पारित किया गया। इसके अलावा वित्त वर्ष 2021 22 के लिए द्वितीय अनुपूरक बजट और अनेक महत्वपूर्ण विधेयकों को सदन ने अनुमति प्रदान की।

Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

- Sponsored -

Comments are closed.