Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

अधिकारी दीर्घा में सीएस-डीजीपी की अनुपस्थिति पर पक्ष-विपक्ष के सदस्यों ने जतायी नाराजगी

- Sponsored -

रांची: झारखंड विधानसभा के बजट सत्र के पांचवें दिन सदन की कार्यवाही शुरू होने पर पक्ष -विपक्ष के सदस्यों ने अधिकारी दीर्घा में मुख्य सचिव और विभागीय सचिव तथा पुलिस महानिदेशक समेत अन्य वरीय अधिकारियों की अनुपस्थिति पर नाराजगी जतायी।
भाजपा के विरंची नारायण ने सदन में इस मुद्दे को उठाते हुए कहा कि वित्तीय वर्ष 2022-23 को लेकर सदन में चर्चा होनी है, लेकिन मुख्य सचिव, डीजीपी कोई भी अधिकारी दीर्घा उपस्थित नहीं हैं।
अधिकारी दीर्घा में मुख्य सचिव और डीजीपी की अनुपस्थिति पर भाजपा विधायकों द्वारा उठाये गये मुद्दे को सत्तारूढ़ दलों का भी समर्थन मिला। झाविमो विधायक प्रदीप यादव और भाजपा विधायक सीपी ंिसह ने अधिकारियों के रवैये पर नाराजगी जतायी। भाजपा विधायक सीपी ंिसह ने कहा कि आसन इतना कमजोर क्यों हैं, स्पीकर कहते हैं कि अधिकारी आ रहे हैं, तो क्या अब जनप्रतिनिधियों को अधिकारियों का इंतजार करना होगा, जब इंतजार करना ही है, तो सदन की कार्यवाही को कुछ देर के लिए स्थगित कर दें।
श्री यादव ने कहा कि अधिकारी सदन को हल्के में ले रहे हैं। इरफान अंसारी ने कहा कि अगर अधिकारी अपने दीर्घा में उपस्थित नहीं करेंगे, तो उनकी बातों को गंभीरता से कैसे लिया जाएगा।
पक्ष-विपक्ष के सदस्यों द्वारा उठाये गये सवाल पर विधानसभा अध्यक्ष रवींद्रनाथ महतो ने संसदीय कार्यमंत्री को निर्देश दिया कि वे सुनिश्चित करें कि अधिकारी सदन में बजट चर्चा के दौरान उपस्थित रहें।

Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

- Sponsored -

Comments are closed.