Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

जारी ऑनलाइन जन्म व मृत्यु प्रमाण पत्र होगा निरस्त, अपर मुख्य रजिस्टार से ने किया आदेश जारी

- Sponsored -

रामप्रसाद सिन्हा
पाकुड़: झारखंड राज्य में उप रजिस्टार (जन्म मृत्यु) के हस्ताक्षर से जारी जन्म मृत्यु प्रमाण पत्र निरस्त होंगे। निदेशक सह अपर मुख्य रजिस्टार झारखंड डा. माधव ने झारखंड राज्य के सभी जिलो के उपायुक्त सह जिला रजिस्टार को इस संबंध में पत्र निर्गत किया है। अपर मुख्य रजिस्टार ने अपने जारी आदेश में यह भी उल्लेख किया है कि आरबीडी एक्ट 1969 की धारा 7 (5) में प्रावधान है कि मुख्य रजिस्टार के पूर्व अनुमोदन से रजिस्टार अपनी अधिकारिता के विनिर्दिष्ट क्षेत्रो के संबंध में उप रजिस्टार नियुक्त कर सकेगा और उन्हे कोई या सभी शक्तियां और कर्तव्य सौंप सकेगा लेकिन धारा 7 (5) के तहत झारखंड राज्य के किसी भी निबंधन इकाई में मुख्य रजिस्टार द्वारा उप रजिस्टार नियुक्त करने का अनुमोदन प्रदान नही किया गया था। अपर मुख्य रजिस्टार ने पाकुड़ एवं दुमका जिले में कुछ निबंधन इकाईयो में उप रजिस्टार (जन्म मृत्यु) के हस्ताक्षर से निर्गत किये गये जन्म एवं मृत्यु निबंधन प्रमाण पत्र को निरस्त करने का आदेश जारी किया है। डा. माधव ने उप रजिस्टार द्वारा निर्गत सभी जन्म एवं मृत्यु प्रमाण पत्रो की सुची तैयार कर निदेशालय को भेजने का निर्देश दिया है ताकि ओआरजीआई के सीआरएस डाटावेस से उन निबंधनो को हटाने के लिए महारजिस्टार को भेजा जा सके। यहां उल्लेखनीय है कि हाल में ही पाकुड़ जिले में फर्जी जन्म प्रमाण पत्र उपरजिस्टार के जाली हस्ताक्षर से बनाये जाने का मामला प्रकाश में आया था। सदर अस्पताल में पदस्थापित उपाधीक्षक डा. एसके झा ने फर्जी जन्म प्रमाण पत्र बनाये जाने वाले लोगो के खिलाफ थाने में लिखित शिकायत भी की थी। इधर सुत्रो से मिली जानकारी के मुताबिक फर्जी जन्म एवं मृत्यु प्रमाण पत्र बनाने वाले गिरोह में जिले के कुछ प्रज्ञा केंद्र संचालको की भी संलिप्तता सामने आयी है।
Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

Leave a Reply