Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

एनटीपीसी को पांच दिन के आंदोलन से 28. 80 करोड़ की हानि

- Sponsored -

देश के बड़े पावर प्लांट समेत 21 प्रोजेक्ट हुआ प्रभावित,

बानादाग से कोयला ट्रांसपोर्टिंग ठप
हजारीबाग :एनटीपीसी कंपनी को पिछले पांच दिनों में 28 करोड़ 80 लाख रुपए का नुकसान हुआ है। पांच दिनों से देश के बड़े पावर प्लांट समेत 21 प्रोजेक्ट को कोयला की आपूर्ति पूरी तरह से प्रभावित है, जिससे बिजली आपूर्ति के अलावे अन्य उत्पादन कार्य बंद होने के कगार पर पहुंच गई है। देश के 21 प्रोजेक्ट में पावर प्लांट बोंगाईगांव, फरक्का, कहलगांव, बारा, नबीनगर, कांटी बरौनी, विध्यांचल, टांडा, दादरी, सोलापुर, मौदा, खरगांव, गदरवाड़ा, सिम्हाद्री, कुडगी तलचर, लारा, कोरबा और सिपात समेत देश के बड़े कंपनियों को बड़कागांव से कोयला आपूर्ति की जाती है। बड़कागांव में एनटीपीसी के चार माईंस है, जिसमें वर्तमान में पकरी बरवाडीह से कोयला का खनन किया जा रहा है। शेष तीन माईंस केरेडारी, चट्टी बारियातु और बादम बंद है। पकरी बरवाडीह से कोयला खनन कर त्रिवेणी सैनिक कंपनी के माध्यम से बानादाग साईडिंग ट्रांसपोर्ट लाईन से भेजा जाता है, जिसकी आपूर्ति ट्रेन मालगाड़ी से देश के 21 बड़े प्रोजेक्ट को भेजी जाती है। प्रतिदिन बानादाग साईडिंग से 5 रैक कोयला सभी प्रोजेक्ट को भेजा जाता है। पकरी बरवाडीह से कोयला खनन का कार्य जारी है, लेकिन बानादाग साईडिंग से पीड़ित चार गांव बांका, कुसुंभा, बानादाग और कटकमदाग के रैयत पिछले 5 अक्टूबर से आंदोलनरत है। जिसके कारण ट्रांसपोर्टिंग पूरी तरह से प्रभावित है। 9 अक्टूबर तक रैयतों का आंदोलन क 5 दिन बीत चुका है।

Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

Leave a Reply