Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

एनटीपीसी पूर्वी क्षेत्र-एक ने शत प्रतिशत कर्मियों का वैक्सीनेशन कर मिसाल कायम की

पटन: वैश्विक महामारी नोवेल कोरोना वायरस के खिलाफ जारी जंग में देश की सबसे बड़ी विद्युत उत्पादक कंपनी एनटीपीसी लिमिटेड (पूर्वी क्षेत्र-एक) ने ‘5-टी’ रणनीति के तहत अपने कर्मचारियों के लिए करीब-करीब शत-प्रतिशत वैक्सीनेशन का लक्ष्य हासिल कर एक मिसाल कायम की है। एनटीपीसी पूर्वी क्षेत्र -एक के प्रबंधक (नैगम संचार ) के प्रबंधक विश्वनाथ चंदन ने शुक्रवार को यहां बताया कि कंपनी के क्षेत्रीय कार्यकारी निदेशक प्रवीण सक्सेना ने आगे बढ़कर हर कदम पर सभी नौ परियोजनाओं को इस दिशा में युद्धस्तर पर लगातार प्रयास करने के लिए प्रेरित किया। कोरोना काल में चौबीस घंटे काम करने वाली टास्क फोर्स एवं हेल्पलाइन का गठन किया गया ताकि किसी को भी कभी भी मदद तत्काल पहुंचाई जा सके। उन्होंने कहा कि उनकी कंपनी ने कोरोना संक्रमित कर्मियों के लिए ‘5 टी’ रणनीति-टेस्ट, ट्रैक, ट्रेस, ट्रीट और टेक्नोलोजी के तहत न सिर्फ बेहतर उपचार मुहैया कराया बल्कि उनकी हरसंभव मदद भी की। श्री चंदन ने बताया कि सभी अधिकारी शिफ्ट एवं रोटेशन में संक्रमितों के लिए आवश्यक दवाइयों और उपचार का प्रबंध करने के लिए कार्यरत रहे। क्योंकि एनटीपीसी पूर्वी क्षेत्र-1 के अधिकांश संयंत्र दूरस्थ क्षेत्रों में स्थित हैं, इसलिए किसी गंभीर मामले के सामने आने पर पटना, रांची और कोलकाता के सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल में आॅक्सीजन और आईसीयू सपोर्ट वाले बेड का तत्काल प्रबंध भी इन कर्मियों द्वारा किया जाता रहा। कोरोना के गंभीर मरीजों को प्लांट के अस्पताल से सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल में एयरलिफ्ट करने का निर्णय, एनटीपीसी के शीर्ष प्रबंधन की विशेष पहल का हिस्सा है। प्रबंधक ने बताया कि बाढ़ परियोजना में पिछले साल स्थापित कोविड केंद्र में संक्रमितों की पहचान करने के लिए यहाँ ट्रू-नैट, एंटीजन और आरटीपीसीआर जांच को युद्धस्तर पर किया गया और मरीजों को उनके लक्षण के मुताबिक आवश्यक उपचार दिया गया। साथ ही कोरोना के संक्रमण की गंभीरता को देखते हुए पूर्वी क्षेत्र की सभी नौ परियोजनाओं में टीकाकरण अभियान पर खासा जोर दिया गया। इससे लगभग सभी 4000 कर्मचारियों और उनके परिजनों को वैक्सीन लगवाई जा चुकी है।
श्री विश्वनाथ ने बताया कि वर्तमान में संविदाकर्मियों और कामगारों के लिए भी टीकाकरण के साथ -साथ टीकाकरण के लिए जागरूकता अभियान ज़ोरों पर है। पूर्वी क्षेत्र की सभी नौ परियोजना में ही 21000 से अधिक कर्मियों-जिसमें एनटीपीसी कर्मचारी,उनके परिजन के साथ-साथ सभी सहयोगी एजेन्सियों के कर्मी शामिल हैं, को वैक्सीन की पहली डोज़ लगाई जा चुकी है। अपने सकारात्मक प्रयासों से 2000 से अधिक ंिजदगी बचाई बल्कि राज्यों व देश को भी इस लड़ाई में भरपूर सहयोग किया ।

 

Looks like you have blocked notifications!

Leave a Reply