Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

अगरतला में टीएमसी को नहीं मिली रैली की अनुमति, आज दिल्ली में दीदी का ‘खेला’

- Sponsored -

नई दिल्ली : संसद के शीतकालीन सत्र के पहले पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी दिल्ली में खेला करने की तैयारी कर रही हैं। आज शाम ममता बनर्जी दिल्ली पहुंच रही हैं जहां वह विपक्ष के कई नेताओं से मुलाकात करने वाली हैं। इस दौरान मोदी सरकार को घेरने के लिए वे रणनीति भी तैयार करेंगी। इसके अलावा त्रिपुरा के मुद्दे पर धरना देने के लिए टीएमसी के 15 सांसद भी दिल्ली पहुंच चुके हैं। बता दें कि त्रिपुरा में  तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) की राज्य सचिव सयानी घोष  की गिरफ्तारी के बाद से भाजपा और टीएमसी के बीच तकरार लगातार जारी है। तृणमूल कांग्रेस आरोप लगा रही है कि भाजपा त्रिपुरा में उनके बड़े नेताओं की रैली नहीं होने दे रही है।
पुलिस सूत्रों ने कहा कि अभिषेक की अगरतला में एक रैली आयोजित करने की योजना थी, जिसे कोविड के वर्तमान हालात को देखते हुए अनुमति नहीं दी गई है। हालांकि पार्टी ने एक ट्विटर पोस्ट में कहा कि ‘हमारे राष्ट्रीय महासचिव अभिषेक बनर्जी हमारे कार्यकतार्ओं के साथ खड़े होने के लिए सोमवार सुबह त्रिपुरा पहुंचेंगे। रविवार को उन्हें उतरने की अनुमति नहीं दी गई। त्रिपुरा में एक निरंकुश शो चला रहा है और हम अंत लड़ेंगे।’त्रिपुरा पुलिस ने सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी)राज्य में आगामी निकाय चुनावों के लिए अगरतला में रैलियों के लिए अनुमति देने से इनकार कर दिया है। पुलिस ने तृणमूल की युवा शाखा की अध्यक्ष सयानी घोष की गिरफ्तारी का जिक्र करते हुए कहा कि दोनों पक्षों के बीच तनाव को देखते हुए यह फैसला लिया गया है। तृणमूल कांग्रेस के करीब 10-12 सांसद धरना देने के लिए दिल्ली पहुंच चुके हैं। टीएमसी सांसद सौगत रॉय ने कहा कि ‘हम पार्टी कार्यालय में मिलेंगे और त्रिपुरा पुलिस द्वारा टीएमसी युवा कांग्रेस प्रमुख सयानी घोष की गिरफ्तारी के खिलाफ सोमवार को प्रदर्शन करेंगे।पश्चिम बंगाल तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) की राज्य सचिव सयानी घोष को शनिवार रात यहां हुई एक सभा के दौरान मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब को धमकी देने के आरोप में हत्या के प्रयास की धाराओं में गिरफ्तार कर लिया गया। पहले उन्हें थाने में पूछताछ के लिए बुलाया गया और फिर गिरफ्तारी की गई। यह घटना टीएमसी के राष्ट्रीय महासचिव अभिषेक बनर्जी के उत्तर पूर्वी राज्य के प्रस्तावित दौरे से एक दिन पहले हुई है।

Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

- Sponsored -

Leave A Reply

Your email address will not be published.