Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

नकवी ने विपक्ष पर जमकर साधा निशाना

- Sponsored -

कोलकाता : केंद्रीय अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने मंगलवार को विपक्षी दलों पर निशाना साधा और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का मुकाबला ना कर पाने की हताशा में ‘भारत को कोसने’ का आरोप लगाया।
इंडिया टुडे कॉन्क्लेव ईस्ट 2022 के दूसरे दिन ‘अल्पसंख्यक मामले: हाउ टू ब्रेक आउट आॅफ द वोट बैंक मोल्ड’ नामक एक सत्र में बोलते हुए श्री नकवी ने नुपुर शर्मा विवाद, उदयपुर में सिर कलम करने की घटना और आॅल्ट न्यूज के सह-संस्थापक मोहम्मद जुबैर की गिरफ्तारी जैसे महत्वपूर्ण मामलों पर अपना दृष्टिकोण स्पष्ट किया। उन्होंने आरोप लगाया कि विपक्ष इन मुद्दों को भुनाने की कोशिश कर रहा है।
कर्नाटक में हिजाब विवाद का जिक्र करने से पहले उन्होंने कहा,‘‘विपक्ष श्री मोदी को कोसने से लेकर भारत को कोसने तक चला गया है। यह एक सुनियोजित साजिश है। पाकिस्तान, अल-कायदा, तालिबान अंदर घुसने की फिराक में हैं। मैं इस बात से निराश हूं कि सबसे पुरानी पार्टी (कांग्रेस) के शीर्ष दो नेताओं ने इसका समर्थन किया।’’ उन्होंने कहा कि आतंकवाद स्थानीय समर्थन से ही देश में जड़ें जमाने में सक्षम है।
श्री नकवी ने कहा,‘‘हम अलग-अलग राय के खिलाफ नहीं हैं, लेकिन अगर उनकी प्रतिक्रिया आतंकवाद है, तो यह अस्वीकार्य है। उन्होंने (उदयपुर में) क्या किया? उन्होंने एक व्यक्ति का सिर कलम कर दिया। निर्दोषों की हत्या करना आतंकवाद है।’’ भारतीय जनता पार्टी की पूर्व प्रवक्ता नूपुर शर्मा की पैगंबर पर टिप्पणी पर भारी विवाद के बारे में पूछे जाने पर, केंद्रीय मंत्री ने कहा कि धार्मिक भावनाओं को आहत करने वाले ध्रुवीकरण वाले बयान देने के लिए वह गलत थीं। उन्होंने कहा,‘‘किसी ने भी श्रीमती नूपुर शर्मा की टिप्पणी को सही नहीं ठहराया। उसकी बातों से मुझे दुख हुआ। उन्हें निलंबित करने का फैसला किसी के दबाव में नहीं लिया गया।’’ केंद्रीय मंत्री ने कहा,‘‘अगर कोई उनकी टिप्पणी का समर्थन करता है, तो इसका मतलब यह नहीं है कि लोगों को ंिहसा का सहारा लेना चाहिए। उसने जो कहा वह गलत है। लेकिन लोग इसके लिए दूसरों का गला नहीं काट सकते।’’ उन्होंने कहा,‘‘यह एक इस्लामी देश नहीं है। यह एक धर्मनिरपेक्ष देश है।

Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

- Sponsored -

Comments are closed.