Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

मोदी-योगी ने उत्तर प्रदेश में दी सुशासन की गारंटी : नकवी

- Sponsored -

रामपुर: भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता एवं केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने रविवार को कहा कि उत्तर प्रदेश में “एम-वाई” फैक्टर मोदी-योगी हैं जो राज्य और लोगों की सुरक्षा, समृद्धि, सुशासन की गारंटी हैं।
श्री नकवी ने आज यहाँ के गांव शंकरपुर में “चौपाल पर चर्चा” के दौरान कहा कि इस “एम-वाई” फैक्टर ने उत्तर प्रदेश में “तुष्टीकरण के सियासी छल” को “समावेशी विकास के राष्ट्रवादी बल” से ध्वस्त किया है। इस अवसर पर श्री नकवी ने भाजपा पन्ना प्रमुखों, बूथ प्रमुखों एवं प्रबुद्ध नागरिकों से भेंट की।
उन्होंने कहा कि इसी “एम-वाई” फैक्टर से “थ्री बी – “बलवाई, बाहुबली, बेईमानी’’ का “ब्रदरहुड” बेचैन है और यह ब्रदरहुड चाहता है कि सत्ता की सुरक्षा से प्रदेश की सुरक्षा को बंधक बनायें। पिछली सरकार के “बलवाईयों, बाहुबलियों, बेईमानों” के जुल्म और जुर्म के जख्म आज भी उत्तर प्रदेश के लोगों के दिलो दिमाग में ताज़ा हैं।
श्री नकवी ने कहा कि पिछले पांच सालों में इसी “एम-वाई” फैक्टर ने “बलवाईओं और बाहुबलियों की बकैती से उत्तर प्रदेश के लोगों को मुक्ति दिलाई है। यही “एम-वाई” फैक्टर सुरक्षा के साथ समावेशी समृद्धि, उत्तर प्रदेश के लोगों के विकास और विश्वास की गारंटी बना है। जिसे किसी भी हाल में कमजोर नहीं पड़ने दिया जायेगा।
उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश आज दंगे और दबंगों से मुक्त, सुरक्षा-सुशासन से युक्त है। “कपट और करप्शन की विरासत” और “दंगों और दबंगों की सियासत” पर मोदी और योगी युग ने विराम लगा दिया है। यह चुनाव एक बार फिर “थ्री बी – “बलवाई, बाहुबली, बेईमानी” ब्रदरहुड के मंसूबों पर पूर्ण विराम लगाएगा।
श्री नकवी ने कहा कि कांग्रेस जो कभी मुल्क की पार्टी थी आज ‘‘मोहल्ले की महंगी’’ हो गई है। इसका प्रमुख कारण है “सामंती सनक से भरपूर नकारात्मक सियासत”। आज कांग्रेस में टिकट लेने वालों से ज्यादा टिकट वापसी वालों की लाइन लगी है।
केंद्रीय मंत्री ने कहा कि मोदी-योगी सरकार ने उत्तर प्रदेश में पिछले पांच वर्षों में कानून व्यवस्था, बेहतर सड़क एवं अन्य जरुरी इंफ्रास्ट्रक्चर, शिक्षा, उद्योग-धंधे, स्वास्थ्य के क्षेत्र में रिकॉर्ड काम किये हैं। कोरोना महामारी की चुनौतियों से राज्य मजबूती से लड़ा है। करोड़ों लोगों का टीकाकरण हुआ है। जहाँ 2017 से पहले सिर्फ 15 मेडिकल कॉलेज थे वहीँ अब इनकी संख्या 59 हो गई है। 2017 से पहले राज्य में 2 अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डे थे वहीँ अब 5 अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डे हैं। मेट्रो रेल की सुविधा जो 2017 से पहले सिर्फ 2 शहरों में थी अब 5 शहरों में हैं और 5 अन्य शहरों में मेट्रो रेल का काम जारी है।
श्री नकवी ने कहा कि जहाँ 2017 से पहले राज्य में कोई एम्स अस्पताल नहीं था, वहीँ अब रायबरेली एवं गोरखपुर में एम्स स्थापित किये गए हैं। जहाँ 2012 से 2017 के बीच गन्ना किसानों को 95 हजार करोड़ रूपए का भुगतान किया गया वहीँ 2017 के बाद से अभी तक रिकॉर्ड 1 लाख 50 हजार करोड़ रूपए का भुगतान गन्ना किसानों को किया गया है। राज्य के गांवों में भी 24 घंटे बिजली की आपूर्ति हो रही है। 2 करोड़ 55 लाख से ज्यादा किसानों को किसान सम्मान निधि का लाभ दिया गया है। 6 करोड़ 50 लाख से ज्यादा जरूरतमंदों को निशुल्क चिकित्सीय सुविधा दी गई है।

Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

- Sponsored -

Comments are closed.