Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

हिरानंदपुर बाइपास सड़क के बदलेेंगे हालात, ग्रामीण विकास मंत्री ने मुख्यमंत्री को लिखा पत्र

- Sponsored -

रामप्रसाद सिन्हा
पाकुड़: जिले के पत्थर व्यवसायियो, कारोबारियो के लिए लाइफलाइन कही जाने वाली बदहाल हिरानंदपुर बाइपास सड़क के हालात बदलने वाले है। स्थानीय विधायक सह राज्य के ग्रामीण विकास मंत्री आलमगीर आलम ने जिले को निकटवर्ती पश्चिम बंगाल से जोड़ने वाली इस महत्वपूर्ण सड़क की दशा और दिशा बदलने के लिए मुख्यमंत्री को पत्राचार किया है ताकि जनहीत में इस सड़क निर्माण की स्वीकृति मिल सके। ग्रामीण विकास मंत्री ने मुख्यमंत्री का ध्यान आकृष्ट कराया है कि कार्यपालक अभियंता पथ प्रमंडल द्वारा विभागीय सचिव को 8 करोड़ 38 लाख 89 हजार 169 रूपये का प्राक्कलन भी समर्पित किया गया है। ग्रामीण विकास मंत्री द्वारा किये गये पत्राचार पर सीएम द्वारा यदि त्वरीत कार्रवाई करते हुए हिरानंदपुर बाइपास सड़क निर्माण की स्वीकृति दे दी गयी तो निश्चित रूप से आने वाले दिनों में लोगो को आवागमन के साथ ही व्यापारियों एवं पत्थर कारोबारियो को परेशानियो से मुक्ति मिलेगी। यहां उल्लेखनीय है कि हिरानंदपुर बाइपास सड़क जिला मुख्यालय के व्यापारियो के अलावे जिले के पत्थर कारोबारियों के लिए महत्वपूर्ण सड़क है। प्रतिदिन इस सड़क से सैकडो की संख्या में भारी वाहनो का परिचालन होता है। शहरी क्षेत्र के लोगो को सड़क जाम की स्थिति से मुक्ति दिलाने के लिए तत्कालिन मुख्यमंत्री अर्जुन मुंडा के कार्यकाल में नगर परिषद की राशि से हिरानंदपुर बाइपास सड़क का निर्माण कराया गया था। वर्षो पूर्व सड़क की मरम्मति भी करायी गयी थी लेकिन बीते दो वर्षो से सड़क की स्थिति बेहद खराब हो गयी। इस सड़क पर सैकड़ो स्थानों में बड़े बड़े गड्ढे होने के कारण वाहन चालको और मालिको को परेशानी होने लगी। इतना ही नही अनेको बार भारी वाहनो के कलपुर्जे टुट जाने के कारण आवागमन भी प्रभावित हुआ और इससे पत्थरो का परिवहन बाधित होने लगा। इस सड़क के जर्जर होने के कारण कई लोगो की जाने भी चली गयी। स्थानीय लोगो एवं कारोबारियों, पत्थर व्यवसायियो द्वारा राज्य के ग्रामीण विकास मंत्री से इस सड़क की बदहाली से मुक्ति दिलाने की गुहार लगायी गयी थी। ग्रामीण विकास मंत्री मामले को गंभीरता से लिया और इसकी दशा और दिशा बदलने के लिए मुख्यमंत्री को पत्राचार किया है।
Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

Leave a Reply