Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

जनता की समस्याओं से रूबरू हुए मंत्री डॉ रामेश्वर उरांव 

- Sponsored -

समस्याओं के समाधान के लिए संबंधित अधिकारियों को दिए आवश्यक निर्देश
कयूम खान
लोहरदगा: स्थानीय विधायक सह मंत्री डॉ रामेश्वर उरांव गुरुवार को  बरवाटोली स्थित विधायक कार्यालय पहुंचे और आमजनों की समस्याओं से रूबरू हुए। साथ ही मंत्री डाॅ उरांव बरवाटोली स्थित अपने कार्यालय में जनता दरबार लगाकर लोगों की समस्याएं सुनीं। मंत्री के समक्ष क्षेत्र के बड़ी संख्या में ग्रामीणों ने मिलकर अपनी फरियाद रखी। साथ ही ग्रामीणों ने अपनी-अपनी समस्याओं को मौखिक एवं लिखित आवेदन भी दिये। समस्याओं में राजस्व विभाग, जनवितरण, पेयजलापूर्ति, जेएसएलपीएस, सड़क, बिजली, आंगनबाड़ी, आवास योजना, कृषि एवं अन्य विभागों के कई गंभीर मामलों को रखा गया। इनमें सर्वाधिक अंचल से संबंधित शिकायतें आईं। जिसे सुधारने को संबोधित अधिकारियों को निर्देश दिये गये। मंत्री ने कहा कि जनता दरबार में हर कोई अपनी समस्या बेझिझक होकर रखिए। प्राथमिकता के आधार पर उसका समाधान करने की दिशा में पहल की जाएगी। नागरिकों द्वारा आए समस्याओं की समाधान के लिए संबंधित अधिकारियों को आवश्यक निर्देश भी दिए।
आउटरीच अभियान की सफलता को ले कांग्रेसियों के साथ की बैठक
कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष सह मंत्री डॉ उरांव ने कांग्रेस के पदाधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं के साथ आउटरीच अभियान की सफलता को लेकर बैठक भी कीं। उन्होंने उपस्थित कांग्रेस जनों को कई दिशा निर्देश भी दिए। इस विशेष बैठक में मुख्य रूप से जिलाध्यक्ष साबिर खान, विधायक सह मंत्री प्रतिनिधि निशीथ जयसवाल, प्रदीप विश्वकर्मा, सत्यदेव भगत, अरुण वर्मा, हाजी सिकंदर अंसारी, डोमना  उरांव, शामुल अंसारी, रविंदर सिंह, सद्रुल अंसारी, अनिस खान, जमील खान, नुसरत अंसारी, हाजी जब्बार, संदीप मिश्रा, संदीप गुप्ता फहद खान, राजेश लाल, विशाल डुंगडुंग, संतोष महतो, दीपक महतो, रेहान अख्तर, कृष्णा उरांव, इकबाल खान, असलम अंसारी, सीमा देवी, अमृता देवी, संगीता देवी, प्यारी भगत, मुनीम अंसारी, निरंजन उरांव, सुजीत कुमार, विनोद खेरवार, संजय नायक आदि शामिल थे।
कोरोना प्रभावित लोगों की वास्तविक स्थिति से सरकार को कराएंगे अवगत: मंत्री रामेश्वर उरांव
मौके पर पत्रकारों को संबोधित कर आउटरीच अभियान के संदर्भ में कहा कि दुनिया में पहली बार किसी राजनीतिक दल कांग्रेस कमिटी द्वारा कोरोना वायरस से संक्रमित व प्रभावित लोगों की वास्तविक स्थिति का पता लगाने के लिए आउटरीच सर्वे महाअभियान की शुरुआत की गई है। आउटरीच सर्वे अभियान का मुख्य मकसद कोविड-19 से प्रभावित लोगों तक  एवं उनके परिवार के  सदस्यों का डाटा एकत्र कर वास्तविक स्थिति से केंद्र सरकार को अवगत कराना है। जिससे केंद्र सरकार को पता चल सके कि कोरोना से प्रभावित होने वाले का वास्तविक स्थिति कैसी है। साथ ही प्रभावित परिवार को राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी के तरफ से भी यथासंभव मदद पहुंचाना है। उन्होंने कहा कि अभियान की सफलता के लिए सभी जिला अध्यक्ष एवं प्रखंड अध्यक्षों, पंचायत अध्यक्षों को जिम्मेवारी सौंपी गई है। इस बाबत में सभी प्रखंड अध्यक्ष दस-दस करोना योद्धाओं की टीम बनाएंगे जो पूरे महीने शहरी और ग्रामीण इलाकों में सर्वे करेगी।
Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

Leave a Reply