Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

लोभ में फंस गये महेशपुर बीडीओ, ठग ने सोना बताकर थमा दिया पीतल का सिक्का

- Sponsored -

बीडीओ की शिकायत महेशपुर थाने में हुआ एफआइआर दर्ज
रामप्रसाद सिन्हा
पाकुड़: आम लोगो के साथ साथ अब खास लोग भी ठगी के शिकार लोभ की वजह से होने लगे है। इस बार ठगो ने जिले के महेशपुर प्रखंड के बीडीओ उमेश मंडल को अपना शिकार बनाया है। अपने बीडीओ साहब लोभ में ऐसे फंसे कि सोना समझकर पीतल का सिक्का ले लिया और उन्हे चार लाख रूपये की चपत लग गयी। बीडीओ श्री मंडल ने अपने साथ घटित ठगी की इस घटना को लेकर महेशपुर थाने में रपट लिखायी है। पुलिस ने थाना कांड संख्या 10/22 भारतीय दंड विधान की धारा 406 एवं 420 के तहत एफआइआर दर्ज कर लिया है।
मामला एक अधिकारी को ठगने से जुड़ा रहने के कारण पुलिस अधिकारी भी कुछ बोलने से साफ बच रहे है। प्राप्त जानकारी के मुताबिक ठग ने पहले महेशपुर बीडीओ पर मोबाइल पर सम्पर्क साधा और धीरे धीरे अपनी जाल में फंसाकर इस घटना को अंजाम दिया है। मिली जानकारी के मुताबिक बार बार ठग द्वारा सम्पर्क किये जाने पर बीडीओ ने अपने एक रिस्तेदार को जिसने पश्चिम बंगाल के कोठाशोर सैंथिया भेजा था और ठग ने पहली बार बीडीओ के रिस्तेदार को नमुने के तौर पर सिक्का का आधा टुकड़ा दिया था जो सोनार से जांच करवाने के दौरान सही पाया गया था और यही से अपने बीडीओ साहब का लोभ बढ़ गया और दुबारा उन्होने ठग के पास अपने रिस्तेदार को भेजा और चार लाख रूपये अदा कर 450 सिक्का मगंवाया। जब इन 450 सिक्को की सोनार से जांच करायी गयी तो सभी सिक्के पीतल के निकले। बीडीओ साहब के होश उड़ गये। चुंकि मामला जगजाहिर होने से शर्मिंदगी झेलनी पड़ती इसलिए उन्होने मामले को लगभग तीन महिने तक गौण रखा। दुबारा जब बीते दिसम्बर माह में बीडीओ को उसी ठग ने मोबाइल से काॅल कर किमती सामान खरीदने की बात कही तो उन्होने पूर्व में की गयी ठगी को लेकर महेशपुर थाने में लिखित शिकायत की और एफआइआर दर्ज हुआ है। इस मामले में बीडीओ श्री मंडल भी कुछ भी बताने से इंकार कर रहे है। फिलहाल बीडीओ को एक ठग द्वारा सोना बताकर पीतल का सिक्का देकर लाखो रूपये की ठगी कर लिये जाने का मामला जोरो पर है। की गयी ठगी को लेकर महेशपुर बीडीओ उमेश मंडल से दुरभाष पर सम्पर्क करने पर उन्होने बताया कि मेरे रिस्तेदार के साथ ठगी की गयी थी और मुझसे भी दुरभाष पर सम्पर्क किया गया जिसकी लिखित शिकायत थाने में की गयी है।

- Sponsored -

Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

- Sponsored -

Comments are closed.