Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

कोल्हान गवर्नमेंट स्टेट संगठन द्वारा सरकार विरोधी काम करने लोगों को बरगला कर निकली पत्र देने की सूचना पर गई थी पुलिस

- Sponsored -

 चार लोगों के गिरफ्तारी के बाद पारंपरिक हथियारों से लैस पहुंचे लोगों ने थाना घेरा
,आक्रोशित लोगों ने कि पत्थरबाजी- चलाए तीर ,कई पुलिसकर्मी हुए घायल
चाईबासा : कोल्हान गवर्नमेंट स्टेट संगठन द्वारामुफस्सिल थाना क्षेत्र के लादुराबासा गांव में सरकार विरोधी काम करने लोगों को बरगला कर  नियुक्ति पत्र देने और कोल्हान में अलग सरकार चलाने की सूचना पर रविवार को चाईबासा पुलिस मौके पर पहुंची थी. पुलिस ने वहां से चार लोगों को गिरफ्तार करके सुबह थाना लायी थी. इसके विरोध में गांव के लोगों ने सभी को रिहा करने और कोल्हान अलग देश की मांग करते हुए मुफस्सिल थाना पर पथराव किया और पुलिसकर्मियों पर तीर चलाए. इसमें आधा दर्जन पुलिस के जवान घायल हो गए हैं. पुलिस की ओर से लोगों को तितर-बितर करने के लिए लाठी चार्ज और आंसू गैस के गोले भी छोड़े गये. भीड़ के तितर-बितर नहीं होने पर पुलिस को हवाई फायरिंग भी करनी पड़ी. पुलिस को माहौल को काबू में करने के लिए चार घंटे लग गए. शाम छह बजे के बाद मामला शांत हुआ. मुफस्सिल थाना को पुलिस छावनी में तब्दील कर दिया गया है. एसडीओ सदर शशिन्द्र बड़ाइक ,एसडीपीओ सदर दिलीप खलको मुस्तैद रहे , एसपी अजय लिंडा  पूरे मामले की मॉनिटरिंग निगरानी कर रहे थे । मगर हालात बिगड़ते चले गए और आक्रोशित लोगों ने पुलिस पर पथराव और तीर चलाए । जिसे कई पुलिसकर्मी घायल हुए इसके बावजूद अधिकारियों द्वारा आक्रोशित लोगों को समझाने बुझाने का प्रयास किया जा रहा था लोगों के नहीं मानने , स्थिति को गंभीरता और बवाल बढ़ता देख काफी संख्या में सीआरपीएफ और पुलिस बल को बुला लिया गया था। अंततः पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा, आंसू गैस के गोले छोड़ने पडे, और भीड़ को तितर-बितर करना पड़ा तब जाकर मामला शांत हुआ.

- Sponsored -

- Sponsored -

पेट में तीर लगने से घायल जवान.
घायल पुलिस वालों में आरक्षी 185 बृजमोहन मिश्रा के पेट में तीर लगी है. उन्हें इलाज के लिए टीएमएच में भर्ती कराया गया है. एएसआई अर्जुन सिंह, राम विलास महतो, आरक्षी अगनु उरांव और सत्वंत सिंह मुंडा को भी तीर लगी है. इनका इलाज चाईबासा सदर अस्पताल में चल रहा है. टीएमएच में भर्ती कराए गए आरक्षी बृजमोहन मिश्रा की हालत गंभीर बनी हुई है.
सदर अस्पताल में इलाज कराते पुलिस के जवान.
चाईबासा में दोपहर दो बजे भारी बारिश हो रही थी और लादुराबासा के अलावा अन्य गांवों के लोग बड़ी संख्या में पारंपारिक हथियारों से लैस होकर मुफस्सिल थाना पहुंचे. थाना पर पथराव करने के साथ तीर भी चलाया. इससे हां ड्यूटी में तैनात जवान घायल हो गए. वरीय अधिकारियों को घटना की जानकारी मिलते ही मौके पर बड़ी संख्या में पुलिस बल को भेजकर लाठी चार्ज करवाया गया. साथ ही आंसू गैस के गोले भी छोड़े गए और हवाई फायरिंग की गई. इसके बाद ग्रामीण तितर-बितर हो गए. दोपहर दो बजे से शाम छह बजे तक थाना में मजमा लगा हुआ था.
Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

- Sponsored -

Comments are closed.