Live 7 Bharat
जनता की आवाज

कैलाश विजयवर्गीय ने छुपाया रेप केस, चुनाव आयोग पहुंची कांग्रेस

छवि धूमिल होन के डर से छुपाई जानकारी: अधिवक्ता

- Sponsored -

बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय की मुसीबतें लगातार बढ़ती जा रही है। पहले बेमन से चुनाव मैदान में उतरना पड़ा और अब नामंकन के दौरान कई जानकारी छुपाने के आरोप लगे है। अब इसी मुद्दे को लेकर कांग्रेस चुनाव आयोग पहुंच गई है। कांग्रेस ने चुनाव आयोग से कैलाश विजवर्गीय का पर्चा निरस्त कने की मांग की है।

- Sponsored -

दरअसल भाजपा राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय नामांकन के दौरान खुद पर दर्ज मुकदमों की जानकारी छुपा ली। विजयवर्गीय पर पश्चिम बंगाल में एक महिला से दुष्कर्म का और छत्तीसगढ़ में केस में फरारी का मामला दर्ज है। परन्तु इन मामलों का जिक्र उन्होनें अपने शपथ पत्र में नही की है। कैलाश विजयवर्गीय ने शपथ पत्र में अपने उपर चल रहे 5 मामलों की जानकारी तो दी थी, परन्तु ये मामला छुपा लिया था। कैलाश विजयवर्गीय इंदौर 1 विधानसभा क्षेत्र से बीजेपी के प्रत्याशी हैं। मामला सामने आने के बाद कांग्रेस के उनके प्रतिद्वंदी संजय शुक्ला, दीपू यादव और वकील रविंद्र सिंह छाबड़ा चुनाव आयोग पहुंच गए है और कैलाश विजवर्गीय का पर्चा निरस्त करने की मांग की है।

छवि धूमिल होन के डर से छुपाई जानकारी: अधिवक्ता

कांग्रेस द्वारा कैलाश विजयवर्गीय का पर्चा निरस्त करने की मांग पर उनके वकिल ने जवाब दिया. उन्होनें कहा कि नामांकन में इस तरह की जानकारी साझा करने से प्रत्याशी के छवि धूमिल होने का डर था इसलिए जानकारी छुपाई गई।

 क्या है पूरा मामला?

बीजेपी राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय पर पश्चिम बंगाल में एक महिला से दुष्कर्म के मामले में केस दर्ज है। इसके अलावा छत्तीसगढ़ में भी उन पर एक गंभीर मामले में मुकदमा दर्ज है। जिसके खिलाफ विजयवर्गीय ने हाईकोर्ट में अपील की थी। हालांकि कोर्ट ने उनकी अपील को खारिज कर दिया था। तब वो अपनी अपील को लेकर सुप्रीम कोर्ट पहुंचे थे। उस दौरान सर्वोच्च न्यायालय ने हाईकोर्ट को मामले में पुन: विचार करने के निर्देश दिए थे। वर्तामान में ये मामला कोर्ट में विचारधीन है।

Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

- Sponsored -

Comments are closed.

Breaking News: