Live 7 Bharat
जनता की आवाज

कांग्रेस सांसद के ठिकानों पर IT का छापा, 100 करोड़ से अधिक कैश बरामद

बौद्ध डिस्टिलरी प्राइवेट लिमिटेड कंपनी का मालिक कौन?

- Sponsored -

झारखंड में आयकर विभाग का कांग्रेस सांसद धीरज साहू के अलग-अलग ठिकानों पर छापेमारी जारी है। छापेमारी के दौरान आईटी विभाग ने अब तक 100 करोड़ से अधिक की नकदी बरामद कर ली है। धीरज के ठिकानों पर छापेमारी के बाद अब आईटी विभाग ओडिशा और झारखंड में उनके नजदीकी कांग्रेसी नेताओं के ठिकानों पर भी छापेमारी करना शुरू कर दिया है।

 

- Sponsored -

जानकारों की मानें तो बुधवार को आईटी विभाग को बौद्ध डिस्टिलरी प्राइवेट लिमिटेड से जुड़े ठिकानों पर बड़ी नगदी होने की सूचना मिली थी। जिसके बाद आईटी ने मौके पर पहुंच कर छापेमारी की थी। उस दौरान आईटी विभाग को भारी संख्या में नोट बरामद हुए थे। जिन्हें गिनने के लिए बड़ी-बड़ी मशीनों को भी मंगाना पड़ा था।

 

बौद्ध डिस्टिलरी प्राइवेट लिमिटेड कंपनी का मालिक कौन?

 

आपको बता दें कि आईटी विभाग ने जिस बौद्ध डिस्टिलरी प्राइवेट लिमिटेड से जुडे़ ठिकानों पर छापेमारी की है। वो कांग्रेस राज्यसभा सांसद धीरज साहू के परिवार की कंपनी है. पूरा परिवार शराब के बड़े कारोबार से जुड़ा है। इनकी ओडिशा और झारखंड मे शराब की कई फैक्ट्रियां है। लिहाजा आयकर विभाग ने ओडिशा स्थित बोलनगीर और संबलपुर में उनके पैतृक आवास पर भी छापेमारी की। झारखंड के रांची और लोहरदगा में आयकर की अभी भी छापेमारी जारी है. रेड में अब तक 100 करोड़ से अधिक की नकदी मिल चुकी है. जिसकी फोटो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। फोटो में दिख रहा है कि एक अलमीरा में भारी संख्या में कैश रखा हुआ नजर आ रहा है।

 

कैश के फोटो वायरल होने पर सियासत हुई तेज

 

नोट की गड्डी का फोटो सामने आने के बाद अब बीजेपी ने कांग्रेस पर तंज कंसना शुरू कर दिया है। पूर्व बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष और राज्यसभा सांसद दीपक प्रकाश ने ट्वीट कर कहा कि, यह तो कांग्रेस के सिर्फ एक सांसद के यहाँ पड़े छापे में बरामद नगद की तस्वीरें है, सोचिए कि 70 साल से देश को खोखला करने वाले और कितने होंगे. हम जब हेमंत सरकार में हो रहे हज़ारों करोड़ों के घोटाले की बात करते हैं तो वह महज आंकड़ा नहीं हकीकत होता है जिसका छोटा उदाहरण फिर सामने है”

 

कैश गिनते-गितने मशीन ने भी हुई खराब

 

जानकारों की मानें तो कांग्रेस सांसद धीरज साहू के घर से इतना कैश बरामद हुआ है कि आयकर विभाग द्वारा मंगाई गई बड़ी-बड़ी मशीनों ने भी काम करना बंद कर दिया। फिलहाल बीजेपी की तरफ से इस पूरे मामले की जांच ईडी से कराने की मांग की गई है।

Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

- Sponsored -

Comments are closed.

Breaking News: